घर से घूमने के लिए साइकिल पर निकली थी 17 साल की पोती, दादी की बीमार की खबर सुनते ही 15 घंटों में 216 km साइकिल चलाकरj पहुची दादी के पास

दादा- दादी को आपने पोते-पोती बहुत प्यारे होते हैं और उनसे बहुत प्यार करते हैं बदले में पोते-पोती आपने दादा-दादी को बहुत प्यार करते हैं. और ये प्यार हर किसी को नही मिलता. आज के समय में भी ना जाने कितने बच्चे हैं जिन्होंने आपने दादा-दादी और नाना- नानी का प्यार नही मिला है.

अब एक ऐसी की खबर जयपुर से आ रही हैं यहाँ एक पार्टी अपनी बीमार दादी से मिलने साईकिल से 217KM दूर अकेली आ गयी. 17 साल की आरती प्रजापत को जब पता चला कि उसकी दादी बीमार है तो वह साईकिल से दादी से मिलने चल दी.

आरती जयपुर से 216 किलोमीटर साइकिल चलाकर भरतपुर पहुंची. बीते बुधवार 13 तारीख को ही आरती अर्जुन नगर, जयपुर से सुबह 4:30 बजे भरतपुर के लिए निकली और शाम को 7 बजे अपने दादा-दादी के पास पहुंची.

कई बार उतरी साईकिल की चैन :

आरती बताती हैं उनका ये सफर आसान नही था आरती ने बताया की जयपुर से भरतपुर आने के रास्ते में उसकी साइकिल की चेन कई बार उतरी जिसे उसने खुद ही ठीक किया।

भटक गयी थी रास्ता :

दादा-दादी से मिलने डहरा गांव जाते समय वह रास्ता भटक गई और आगरा की तरफ निकल गई। उसने देखा की उत्तर प्रदेश का फतेहपुर सीकरी मात्र 15 किलोमीटर का बोर्ड लग रहा है तो उसे अहसास हुआ कि वह रास्ता भटक गई है। वह लौटी और सही रास्ता पकड़ कर अपने दादा दादी के घर पहुंची।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.