दर्दनाक : पति को नही मिला ऑक्सिजन तो मुंह से सांस देकर अस्पताल लेकर आई पत्नी, फिर भी

अस्पतालों में लगातार ऑक्सिजन की कमी बनी हुई है, सरकार इसको पूरा करने में जी जान से मेहनत कर रही है लेकिन पहले ही स्तिथि इतनी भयानक हो गयी है की किसी को समझ नही आ रहा क्या करें, अभी हाल ही में आगरा के अस्पतालों से झकझोर देने वाली तस्वीर सामने आई है।

पति की साँस के लिए अपनी साँस लगा दी दाव पर 

शुकवार को  आवास विकास सेक्टर-सात निवासी रवि सिंघल (47 वर्ष) की तबीयत खराब हो गई। उन्‍हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी। इस पर पत्नी रेनू सिंघल परिजनों के साथ रवि को लेकर श्रीराम हॉस्पिटल, साकेत हॉस्पिटल और केजी नर्सिंग होम पहुंचीं। बेड खाली न होने से मरीज को कहीं भर्ती नहीं किया गया। आखिरकार रेनू ऑटो में बीमार पति को लेकर एसएन मेडिकल कॉलेज पहुंचीं। रास्ते में वह पति को बार-बार मुंह से सांस देने का प्रयास कर रही थी। एसएन मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने देखने के बाद मृत घोषित कर दिया। पति की मौत के बाद रेनू के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे थे।

कई अस्पतालों में भटकी नही मिला बेड 

शुक्रवार को कई अस्पतालों में भटकने के बाद दोपहर बाद एक महिला अपने कोविड संक्रमित पति को ऑटो में लेकर एसएन मेडिकल कॉलेज पहुंची। पति सांस लेने के लिए तड़प रहा था। ऑक्सिजन कहीं थी नहीं तो पत्नी अपने मुंह से पति को जीवन की सांसें देने की कोशिश करती रही। लेकिन लाख जतन के बाद भी वह पति की जान नहीं बचा पाई।

आगरा में ह्ह्ल्ट खराब 

आगरा में हालत इतने खराब हैं की एक  मरीज को तो भर्ती कराने के लिए डीएम को खुद अस्पताल आना पड़ा। एक और मामले में सीएमओ को दो बार अस्पतालों में फोन करना पड़ा तक मरीज को भर्ती किया गया। आगरा के सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय ने बताया कि एक मरीज राजपाल के लिए मैंने फोन किया था। वहां बेड फुल थे। मरीज को दूसरी जगह भर्ती कराया है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.