नाले के पानी से तैयार हुई मिठाई, मेबे की जगह मच्छर और कीड़े, दीवाली पर मिठाई खरीदने से पढ़ ले ये खबर

त्यौहार आने वाले है और सभी दुकाने सज चुकी हैं. त्यौहार आते ही सभी दुकानदार ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने की सोचते हैं इसके लिए वो प्रोडक्ट में मिलावट खोरी शुरू कर देते हैं जिसे कम दम में ज्यादा से ज्यादा पैसा कम सके. मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। जहां खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने एक मिठाई के ऐसे कारखाने पर छापा मारा जो नाले के पानी में मिठाईयां बना रहा था।

छापे के दौरान खाद्य विभाग ने पाया की मिठाई बनाने के लिए नाले के पानी का इस्तेमाल किये जा रहा हैं  इतना ही नहीं उसकी मिठाई में मच्छर और कीड़े भी मिले हैं।

मापदंड का नही उपयोग, FIR दर्ज 

रिपोर्ट के मुताबिक खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने खजराना क्षेत्र के एक मिठाई कारखाने पर छापेमारी की। जहां मेसर्स गर्ग मावा भंडार पर कई सैंपल लिए जो कि तय मापदंड के हिसाब ने नहीं बनाई गई थीं। फूड विभाग ने कारखाने के संचालक राकेश गर्ग के खिलाफ एफआईआर दर्ज की।

मिठाई में पड़े मिले कीड़े 

खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने इस कारखाने से मावा कतली, मावा रोल, मावा कटलस, पेड़ा, गुपचुप, मीठा मावा, चॉकलेट बर्फी ज्ब्ख्त की.  हैरानी की बात यह थी कि इन मिठाइयों में मच्छर और कीड़े भी लगे हुए थे।

दिवाली के मौके पर छापेमारी 

दीपावली के त्यौहार को देखते हुए अधिकारी मिठाइयों के नमूने ले रहे हैं । रोजाना कई दुकानों पर जाकर ऐसी कार्रवाई की जा रही है। और दुकान मालिको के खिलाफ कार्यवाही की जा रही है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.