नौकरी छोड़ 11 साल से सड़क के गड्ढों को भर रहा ये दंपति, 2000 गड्ढे भरने में खर्च कर दिए पेंशन के 40 लाख रुपये

सडको पर आपने गड्ढे तो देखे होंगे उसकी वजह से कई निर्दोष लोगो की जान भी चली गयी जाती है और हादसे हो जाते हैं. हैदराबाद में एक बुजुर्ग दंपती ने समाज सेवा की एक ऐसी अनूठी मिसाल पेश की है जिसमे वो आपने खुद के पैसो से सडको के गड्ढे भरते हैं

हैदराबाद में रहने वाले गंगाधर तिलक कटनम और उनकी पत्नी वेंकटेश्वरी कटनम  पिछले 11 साल से अपनी पेंशन के रुपयों से सड़क के गड्ढों को अपने हाथों से भर रहे हैं। दंपती के अनुसार अब तक वे शहरभर में 2000 गड्ढे भर चुके हैं।

रोड डॉक्टर के नाम से है मसहूर 

73 वर्षीय हैदराबाद के गंगाधर तिलक कटनम को “रोड डॉक्टर” के नाम से भी जाना जाता है। उनके पास एक कार है, जिसे वे ‘पॉटहोल एंबुलेंस’ कहते हैं। वह अपनी पत्नी के साथ सड़क पर निकलते हैं और जहां भी उन्हें कोई गड्ढा मिलता है, उसे भर देते हैं।

छोड़ दी थी नौकरी 

गंगाधर तिलक रेलवे में नौकरी करते थे रेलवे से  रिटायर होने के बाद वे एक सॉफ्टवेयर कंपनी में इंजीनियर के रूप में काम करने के लिए हैदराबाद आए थे। बाद में सड़क के गड्ढों को भरने के लिए तिलक ने सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी भी छोड़ दी।

गंगाधर तिलक बताते है की’मैने पिछले 11 वर्षों में अपनी पत्नी के साथ मिलकर इस शहर में लगभग 2,030 गड्ढों को भरा है, जिसपर लगभग 40 लाख रुपये खर्च हुए हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.