पटना को मिलेगा प्रदूषण और शोर से छुटकारा,जल्द होगा इलेक्ट्रिक और सीएनजी सिटी बसों का परिचालन

Advertisement

पटना में चल रही डीजल बसों को सरकार ने बंद करने का फैसला लिया है इससे पटना बासियों को प्रदूषण और शोर  से छुटकारा मिल जायेगा, रिपोर्ट के मुताबिक 31 मार्च, 2022 तक पटना शहर में चलने वाली  बीएसआरटीसी के काफिले से डीजल चालित सिटी बसें पूरी तरह से बाहर हो जायेंगी और सिर्फ इलेक्ट्रिक और सीएनजी सिटी बसें चलेंगी.

Advertisement

अधिकारियों के मुताबिक ये फैलस शहर में बढ़ रहे प्र्दुष्ण और शोरगुल को देखकर लिया गया है जिससे आम जनता को राहत मिलेगी.सफर का आनंद मिलेगा रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक बीएसआरटीसी के पास 143 सिटी बसें हैं. जिनमे से 3 बसें प्रदूषणमुक्त हैं, जिनमें 70 सीएनजी बसें हैं.

70 बसों में से 50 बसे नई आयीं है जबकि 20 पुरानी बसों में CNG किट लगाकर चलाया जा रहा है साथ ही 23 इलेक्ट्रिक बसें हैं. बाकी 50 बसें डीजल से चलने वाली हैं. बीएसआरटीसी  की रिपोर्ट के मुताबिक 40 नई इलेक्ट्रिक बसों को खरीदने की प्रकिया चल रही है  इनमे से 20 बसें दिव्यांगो के लिए हैं.

Advertisement

परिवहन आयुक्त के मुताबिक अगले वर्ष 31 मार्च तक हम इन्हें भी नये सीएनजी बसों से या किट लगा कर कन्वर्जन के जरिये सीएनजी बसों में बदल देंगे.

Advertisement