रॉबिन उथप्पा ने बताई धोनी के साथ दोस्ती की काहनी, जब महेंद्र सिंह धोनी से बोले उथप्पा मैं तुम्हे क्या बुलाऊ यार, MS या माही भाई!

आममतौर पर महेंद्र सिंह धोनी को उनके सभी साथी खिलाडी और उनके जूनियर खिलाडी भी उन्हें माही भाई कह कर ही बुलाते है। लेकिन रॉबिन उथप्पा के लिए महेंद्र सिंह धोनी को माही भाई बुलाना थोडा मुश्किल था। इसका खुलासा खुद उथप्पा ने रविचंद्रन आश्विन के यूट्यूब चेन्नल पर एक खास बातचित में किया। क्योकि जब वो पहली बार धोनी से मिले थे, तब वो MS धोनी थे। इसके लिए रॉबिन उथप्पा ने धोनी से पूछा भी था की मैं आपको MS धोनी कहू या फिर माही भाई???

यूट्यूब चेन्नल पर रॉबिन उथप्पा ने बताया की मेरे लिए आज धोनी को माही भाई बुलाना काफी कठिन था, क्योकि जब मैं सालो पहले उनसे मिला था तब वो MS धोनी थे। अब 10, 12 या 13 साल हो गये जब मैं उनके साथ खेला। अब क्योकि सभी साथी खिलाडी उन्हें माही भाई बुलाते है। इसलिए असल मुझे नहीं पता की मैं धोनी को क्या कहू? फिर मैंने उनसे पूछा की मैं तुम्हे क्या बुलाऊ यार, क्या मैं भी माही भाई बुलाऊ, क्योकि हर कोई आपको माही भाई बुलाता है?

तब महेंद्र सिंह धोनी ने कहा की तुम्हे जो अच्छा लगता है वो बुलाओ, चाहे MS धोनी या माही भाई! रॉबिन उथप्पा ने आगे बताया की हम साल 2004 में मुंबई में चैलेंजर्स ट्राफी के दौरान पहली बार मिले थे। उस समय हमें श्रीधरन श्रीराम ने हमें मिलवाए था। जोकि क्रिकेटर से कोच बने थे। उथप्पा ने बताया की मैं श्रीधरन श्रीराम के क्लोज था और श्रीधरन श्रीराम महेंद्र सिंह धोनी के क्लोज थे। उनके जरिये ही मैं धोनी से मिला था। हालाँकि वो मुलाकात छोटी थी, लेकिन हम साथ में खूब घुमे थे।

रॉबिन उथप्पा ने बताया की धोनी के साथ उनका बांड काफी मिलता था, उनकी अच्छी दोस्ती एक वेस्टइंडीज के दौरे पर हुई थी। ये मेरा पहला अन्तर्राष्ट्रीय दौरा था। तभी सीरीज के दौरान मेरी MS, इरफ़ान पठान, RP सिंह और पीयूष चावला के साथ काफी अच्छी दोस्ती हुई थी। हालाँकि मैं ज्यादा समय बेंच पर ही बैठा रहा लेकिन हमने साथ में काफी समय बिताया था। हमारे खाने में हर रोज दाल मक्खनी और नान होती थी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.