युवती को बस में मिला नोटों से भरा बैग, पाकर किसान रो पड़ा, कहा- फसल बेचीं थी

दुनिया में आज भी कुछ लोग अपनी ईमानदारी पर कायम है। ऐसी ही ईमानदारी का परिचय मध्य प्रदेश की रहने वाली रीता ने दिया है। रीता ने बस में मिले बैग को पुलिस को सौपा। जिसमे ढेर सारे पैसे थे। रीता ने जब बैग खोलकर देखा था तो वह समझ गयी थी की यह किसी राहगीर का छूट गया है।

 

नोटों से भरा बैग देखकर कोई भी एक बार अपनी ईमानदारी को भूल सकता है लेकिन रीता ने ऐसा नहीं किया बल्कि यह साबित किया की आज भी इस दुनिया में ईंमानदार इंसान बचे है। रीता जब बैग लेकर साईंखेड़ा थाने पहुँची तो पुलिस वाले बैग देखर हैरान रह गए क्यूंकि बैग नोटों से भरा था। जब पुलिस ने पता लगाया तो बैग एक किसान का निकला।

 

पुलिस ने जब किसान के बारे में जानकारी जुटाई तो पता चला यह बैग बिरुल बाजार के निवासी रमेश साहू का है जो एक किसान है। जिस समय बैग बस में छूटा था उस समय रमेश साहू गोभी बेचकर भोपाल वापस आ रहे थे। जानकारी सही पायी जाने पर पुलिस ने बैग रमेश साहू को लौटा दिया।

 

रीता कई ईमानदारी भरा कार्य कर चुकी है जिसको लेकर प्रशासन सम्मानित करने की योजना बना रहा है। एक बार उनके खाते में गलती से किसी व्यक्ति के 42 हजार रुपये आ गए थे। जिसे रीता ने उस व्यक्ति को खोजकर उसके पैसे लौटा दिए थे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.