|

स्टेशन पर कुली की नौकरी, स्टेशन के फर्श पर बैठ कर की पढाई, दूसरों का बोझ उठाकर IAS बना ये लड़का,

Advertisements

अगर किसी में पढने का जज्बा हो तो वो हर परीस्थित में आपने मुकाम को हासिल कर सकता है. अगर आपके बड़े सपने देख रखे है तो उसके लिए उतनी ही मेहनत करनी पड़ेगा. ऐसा ही कुछ कर दिखाया रेलवे स्टेशन पर काम करने वाले एक लड़के ने. दूसरों को देख सोचता था कि शूट-बूट पहनकर किसी दिन अफसर बने। पर उसके पास न घर था, न किताबें, नोट्स और कोचिंग जैसी सुविधाएं लेकिन गरीबी और लाचारी में भी उसने हौसला बनाए रखा। और आपने ही दम पर वो आईएएस भी बना.

IAS सक्सेज स्टोरी में हम आपको केरल के कुली के संघर्ष की कहानी सुना रहे हैं, जो रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते थे, जिसने आईएएस अफसर बनकर सबको चौंका दिया था

Advertisements

केरल से ताल्‍लुक रखने श्रीनाथ वाले एक बेहद गरीब परिवार से थे। जैसे तैसे करके उन्होंने 10वीं तक की पढ़ाई कर ली, फिर आगे गरीबी की वजह से पढाई छुट गयी और  उसके बाद श्रीनाथ ने एर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर यात्रियों का सामान ढोने वाले कुली का काम करना शुरू कर दिया।

रेलवे स्टेशन पर की पढाई :
श्रीनाथ के पास इतने पैसे नही थे की वो महंगी कोचिंग ले सके उनके पास पढ़ाई करने के लिए भी वक्त नहीं था। वो कोचिंग नहीं ले सकते थे क्योंकि उन पर अपना घर चलाने का दबाव था। ऐसे में उन्होंने रेलवे स्टेशन पर अपने फोन से पढ़ाई करना शुरू कर दिया।
फ्री WIFI ने दिया सहारा :
 रेलवे का फ्री वाई-फाई ही उनका एकमात्र सहारा था। श्रीनाथ अपने फोन पर नोट्स बनाते और काम के दौरान ऑडियो बुक्स और डिजिटल कोर्सेज सुनकर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करते थे। श्री नाथ बताते हैं मैं दूसरों का समाना उठाते-उठाते लेक्चर और डिजिटल कोर्सेज सुनता रहता था। ऐसे मेरी पढ़ाई होती थी
2018 में बने अधिकारी :
श्रीनाथ ने साल 2018 में UPSC एग्‍जाम क्‍लीयर कर हर किसी को हैरान किया है। पेशे से कुली श्रीकांत ने ये परीक्षा बिना किसी कोचिंग और नोट्स के पास की।

Advertisements

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.