Press "Enter" to skip to content

ऑक्सीजन संकट के बीच फरिस्ता बनाकर आया कानपूर का ये युवक, चार दिन में 280 को दी नई जिंदगी

देश में ऑक्सीजन संकट बरकार है. ऑक्सीजन संकट से उभरने के लिए भारत हर सम्भव प्रयास कर रहा है.भारत सरकार ने विदेशो से ऑक्सीजन इम्पोर्ट करना शुरू कर दिया है फिर भी हालत सुधर नही रहे हैं,. अस्पतालों से लेकर गैस एजेंसी तक मरीजों के परिजनों की गैस के लिए लाइन लगी हुई है.

Advertisement

लोग अपने परिजनों को बचाने के लिए इधर उधर भटक कर ऑक्सीजन का इंतजाम  कर रहे है जिससे अपने परिवार वालों की जान बचाई जा सके. ऐसे ही कठोर संकट में कानपूर का युवक फरिस्ता बनकर सामने आया है

इस युवक ने  इंसानियत की मिसाल को फिर जिंदा कर दिया है। यह युवक जरूरतमंदों के घरों तक खुद ही ऑक्सीजन के सिलेंडर पहुंचा रहा है।

Advertisement

4 दिन में दी 280 को नई जिन्दगी

जानकरी के मुताबिक सौरभ तिवारी नाम का यह युवक कानपुर के रामादेवी का रहने वाले हैं जो पेशे से एक मेडिकल रीप्रजेंटेटिव (एमआर) हैं। उनके पिता संतोष कुमार तिवारी की आलू आढ़त है, सौरभ की मदद से पिछले चार दिनों में 280 मरीजों को नई जिंदगी मिल गई है। युवक सुबह हो या शाम, दिन हो या रात सिलेंडर की व्यवस्था में जुटा रहता है

समाज सेवा का है शौक 

सौरभ को बचपन से ही समाज सेवा का शौक रहा, इसलिए नौकरी के साथ-साथ बीते कुछ सालों से ‘अक्षर’ नाम के एक एनजीओ का संचालन भी करते हैं। उनका यह एनजीओ झोपड़-पट्टियों में रहने वाले गरीब परिवारों के बच्चों को पढ़ाने में मदद करता है।

Advertisement
More from NewsMore posts in News »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *