Press "Enter" to skip to content

झारखंड : एक ऐसी जगह, जहां पत्थर मारने से पता चलता है गर्भ में लड़की है या लड़का

सोनोग्राफी के सहारे से गर्भ में पल रहे शिशु के लिंग का पता किया जा सकता है लेकिन आप सभी को पता ही होगा कि यह एक कानूनी अपराध है, लेकिन आज हम आपको इस आर्टिकल में एक ऐसे पत्थर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां जाकर आप पता कर सकते हैं कि आप के गर्भ में लड़का है या लड़की.

Advertisement

यहां है वह इलाका

झारखंड में एक ऐसा इलाका है जहां प्राचनी पंरपरा निभाई जाती है . झारखंड के लोहरदगा स्थित खुखरा गांव में एक ऐसी पहाड़ी भी है जो गर्भ में पल रहे नवजात लड़का है या लड़की इस बारे में बता देती है जी हां आपने सही सुना है यह वाकई में चौका देने वाली बात है ।

Advertisement

वहाँ के लोगों का इस बारे में कहना है कि एक भी रुपये खर्च किए बिना हम यह पता कर सकते हैं . यह रिवाज यहां चार सौ साल पहले नागवंशी राजाओं के शासन काल से चली आ रही है।

लोगों का कहना है कि इस पहाड़ी पर चांद के आकारी की आकृति बनी हुई है, जो नवजात शिशु के लिंग के बारे में बताती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहाड़ी पर आकारी की आकृति बनी हुई है जो शिशु के लिंग के बारे में बताती है।

अगर पत्थर चंद्रमा के आकार के ठीक बीच में जाकर लगा तो यह समझा जाता है कि गर्भ में लड़का है और अगर वह पत्थर चंद्रमा के बाहर लगे तो माना जाता है कि गर्भ में पल रही नवजात लड़की है।

Advertisement
More from अजब गजबMore posts in अजब गजब »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *