उत्तराखंड में एक सप्ताह के बाद एक दिन में सबसे कम कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। बीते 24 घंटे के अंदर चार मरीजों की मौत हुई और 424 नए संक्रमित मिले हैं। कुल संक्रमितों की संख्या 77997 पहुंच गई है। इसमें से 70634 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।


स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, रविवार को 14909 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। देहरादून जिले में सबसे अधिक 171 कोरोना मरीज मिले हैं। हरिद्वार जिले में 59, नैनीताल में 40, पौड़ी में 28, पिथौरागढ़ में 28, ऊधमसिंह नगर में 20, चमोली में 19, टिहरी में 16, रुद्रप्रयाग में 13, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा व बागेश्वर में नौ-नौ व चंपावत में तीन संक्रमित मामले मिले हैं।
प्रदेश में आज चार संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। एचएनबी बेस अस्पताल श्रीनगर में दो, सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में एक, दून मेडिकल कॉलेज में एक मरीज ने इलाज के दौरान दम तोड़ा है। प्रदेश में अब तक 1285 मरीजों की मौत हो चुकी है।

वहीं, 346 मरीजों को इलाज के बाद घर भेजा गया है। इन्हें मिला कर 70634 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 5223 सक्रिय मरीजों का उपचार चल रहा है। प्रदेश की रिकवरी दर 90.56 प्रतिशत और संक्रमण दर 5.48 प्रतिशत है।
रानीखेत के कोरोना संक्रमित ने अल्मोड़ा ले जाते वक्त तोड़ा दम
झलोड़ी गांव निवासी 58 वर्षीय कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई। शुक्रवार की रात उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शनिवार को उन्हें बेस अस्पताल अल्मोड़ा ले जाया जा रहा था, लेकिन कोसी के आसपास उन्होंने दम तोड़ दिया। कोविड नियमों के अनुसार अल्मोड़ा में उनकी अंत्येष्टि कर दी गई।

नायब तहसीलदार विवेक रजोरी ने बताया कि झलोड़ी निवासी व्यक्ति कोरोना संक्रमित थे। शनिवार को उन्हें बेस अस्पताल अल्मोड़ा ले जाया जा रहा था, लेकिन उन्होंने रास्ते में दम तोड़ दिया। कोरोना के अलावा मृतक को शुगर, निमोनिया भी था। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए हर संभव कदम उठाए जा रहे हैं।
नैनीताल में 100 पर्यटकों की स्क्रीनिंग
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नैनीताल जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने सैंपलिंग का दायरा बढ़ाने का फैसला लिया है। इसी क्रम में रविवार को नैनीताल के प्रवेश द्वारों पर करीब 100 पर्यटकों की स्क्रीनिंग की गई। जांच में कोरोना लक्षण नहीं मिलने पर रैपिड टेस्ट नहीं हुए।

बीडी पांडे अस्पताल के पीएमएस डॉ. केएस धामी ने बताया कि रविवार से दो टीमों ने स्क्रीनिंग का काम शुरू कर दिया है। डॉ. प्रियांशु श्रीवास्तव के नेतृत्व में तल्लीताल लेक ब्रिज चुंगी में 60 और बारापत्थर एंट्री प्वाइंट पर नगर में प्रवेश करने वाले 40 पर्यटकों की जांच की गई।

हालांकि पहले दिन किसी भी पर्यटक में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं मिले। इस कारण किसी भी पर्यटक का रैपिड टेस्ट नहीं किया गया। उन्होंने बताया कि यह कार्य नए साल तक लगातार चलेगा।

Journalist from Uttar Pradesh. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at [email protected] with Subject line starting Umesh

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *