भारतीय क्रिकेट टीम को दुनिया की नंबर 1 टीम बनाने में महेंद्र सिंह धोनी का अहम योगदान रहा है। इन्होने ना केवल अपने बल्ले से बल्कि अपनी शानदार विकेटकीपिंग से भी विपक्षी टीमों को धुल चटाई है। और अपनी शातिर कप्तानी से भारत को 3 बार वर्ल्ड चैंपियन भी बनाया है। इसी वजह से आज भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के तमाम युवा ख़िलाड़ी धोनी को अपना आदर्श मानते है, उन्हें अपना गुरु मानते है।

उन्ही में से एक वर्तमान में टीम इण्डिया के कप्तान हार्दिक पांड्या भी है। हार्दिक पांड्या कई बार ये बता चुके है की मैंने क्रिकेट के कई गुर धोनी भाई से सीखे है। इसी वजह से आज हार्दिक की कप्तानी में धोनी की कई झलक नजर आती है। हार्दिक ने हाल ही में बतौर कप्तान आईपीएल 2022 की चमचमाती ट्राफी अपने नाम की। इसके बाद अब 2 मैचों की टी 20 सीरीज में भी आयरलैंड को क्लीन स्वीप कर हार्दिक ने ट्रॉफी उठाई।

और जैसे ही हार्दिक ट्रॉफी उठाई इसको टीम के सबसे युवा खिलाडी उमरान मलिक के हाथो में थमा दी। जी हां, बता दे की इस ट्रेंड को महेंद्र सिंह धोनी ने ही शुरू किया था। जब MS धोनी टीम इंडिया के कप्तान थे तब वो कोई भी सीरीज जीतते तो ट्रॉफी को टीम के सबसे युवा ख़िलाड़ी के हाथो में सौंप देते थे।

धोनी के बाद इस ट्रेंड को विराट कोहली ने भी जारी रखा, इसके बाद रोहित शर्मा ने भी इस ट्रेंड को जारी रखा और अब हार्दिक पांड्या ने भी अपने करियर की पहली अंतर्राष्ट्रीय ट्रॉफी जीतकर उमरान के हाथो में थमा दी और अपने गुरु, आपने आदर्शं धोनी के ट्रेंड को बरक़रार रखा। ऐसा मानना है की धोनी ऐसा करके, अपने जूनियर खिलाड़ियों को ट्रॉफी देकर उसका आत्मविश्वास बढ़ाते थे।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep.

Leave a comment

Your email address will not be published.