ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp Group Join Now

मुंबई: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid Birthday) आज अपना 50 वां जन्मदिन मना रहे हैं। राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट टीम के ‘द वॉल’ और ‘मिस्टर भरोसेमंद’ के नाम से भी पहचाना जाता है। राहुल द्रविड़ ने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी से कई बड़े रिकार्ड्स अपने नाम दर्ज किए है

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid Birthday) ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 24,177 रन बनाए और उन्हें क्रिकेट के इतिहास में सबसे महान बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) का जन्म 11 जनवरी 1973 को मध्य प्रदेश के इंदौर में एक मराठी ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनका परिवार बाद में बैंगलोर, कर्नाटक चला गया। द्रविड़ के पिता शरद द्रविड़ जैम और प्रिजर्व बनाने की कंपनी में काम करते थे। वहीं, उनकी मां पुष्पा, यूनिवर्सिटी विश्वेश्वरैया कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग (UVCE), बैंगलोर में वास्तुकला की प्रोफेसर थीं। द्रविड़ को एक छोटा भाई भी है, जिनका नाम विजय है।

]राहुल द्रविड़ ने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जोसेफ बॉयज़ हाई स्कूल, बैंगलोर में की और सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स, बैंगलोर से वाणिज्य में डिग्री हासिल की। सेंट जोसेफ कॉलेज ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में एमबीए की पढ़ाई करने के दौरान उन्हें भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में चुना गया था। View this post on Instagram A post shared by Rahul Dravid (@rahuldravidofficial)राहुल द्रविड़ ने महज 12 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया।

उन्होंने अंडर -15, अंडर -17 और अंडर -19 स्तरों पर कर्नाटक

का प्रतिनिधित्व किया। पूर्व क्रिकेटर केकी तारापुर ने चिन्नास्वामी स्टेडियम में समर कैंप में कोचिंग के दौरान पहली बार द्रविड़ की प्रतिभा को देखा। द्रविड़ ने अपनी स्कूल टीम के लिए शतक बनाया। वह विकेटकीपर के रूप में भी खेले।द्रविड़ ने 3 अप्रैल 1996 को भारतीय टीम के लिए पहला वनडे और इसी साल 20 जून को पहला टेस्ट मैच खेला। राहुल 16 साल तक भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे है। वहीं, साल 2012 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

द्रविड़ ने अपने 16 साल के करियर में 164 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 52.31 की एवरेज से 13,288 रन बनाएं। इस दौरान उन्होंने 36 शतक और 60 अर्धशतक लगाए। जिसमें उन्होंने तीन नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 28 शतक जाड़े। टेस्ट और वनडे क्रिकेट में 10 हजार या इससे ज्यादा रन बनाने का अनोखा रिकॉर्ड द्रविड़ के नाम है। टेस्ट में वे सचिन तेंदुलकर के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज हैं, जबकि वनडे में दस हजार रन बनाने वाले सचिन और सौरव गांगुली के बाद केवल तीसरे भारतीय बल्लेबाज हैं। द्रविड़ ने पाकिस्तान के खिलाफ मुल्तान में खेली 270 रनो की पारी टेस्ट करियर की सबसे बड़ी पारी रही। View this post on Instagram A post shared by Rahul Dravid (@rahuldravidofficial)द्रविड़ (Rahul Dravid) के नाम कई ऐसे वर्ल्ड रेकॉर्ड भी हैं,

जो बताते हैं कि द्रविड़ को क्रिकेट की दीवार यूं ही नहीं कहा जाता। राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के नाम टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा गेंदें खेलने का भी रिकॉर्ड है। राहुल ने अपने 16 बरस के करियर में 31,258 गेंदों का सामना किया और कुल 736 घंटे क्रीज पर बिताए, जो कि एक वर्ल्ड रेकॉर्ड है।द्रविड़ की खासियत यह थी कि वह हर परिस्थिति और हर टीम के खिलाफ रन मशीन रहे। द्रविड़ दुनिया के ऐसे पहले बल्लेबाज रहे हैं, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली दुनिया की सभी 10 टीमों के खिलाफ शतक जड़ा। गैर-विकेटकीपर फील्डर के तौर पर उन्होंने 164 टेस्ट मैचों में 210 से ज्यादा कैच पकड़े थे, यह भी एक वर्ल्ड रेकॉर्ड है।

द्रविड़ के बारे में खास बात यह है कि, वह दुनिया के ऐसे एकमात्र खिलाड़ी हैं जो डेब्यू मैच में ही रिटायर हुए थे। द्रविड़ ने 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 डेब्यू किया था और इसी मैच में उन्होंने टी-20 को अलविदा कह दिया था।बता दें कि, राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने नागपुर की एक सर्जन डॉक्टर विजेता पेंधारकर से शादी की और 11 अक्टूबर 2005 को उनके बेटे समित, का जन्म हुआ। 27 अप्रैल 2009 को विजेता ने उनके दूसरे बेटे को जन्म दिया।पूर्व भारतीय क्रिकेटर और भारतीय राष्ट्रीय टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को नवंबर 2021 में भारतीय टीम का मुख्य कोच बनाया गया। सीनियर पुरुष राष्ट्रीय टीम में अपनी नियुक्ति से पहले, द्रविड़ राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में क्रिकेट के प्रमुख और भारत अंडर -19 और भारत ए टीमों के मुख्य कोच थे। उनके संरक्षण में, अंडर -19 टीम 2016 अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप में उपविजेता रही और 2018 अंडर -19 क्रिकेट विश्व कप जीता। उन्हें बोलचाल की भाषा में मिस्टर डिपेंडेबल के नाम से जाना जाता है और अक्सर उन्हें द वॉल भी कहा जाता है।

Journalist from Gurugram. At @News Desk she report, write, view and review hyperlocal buzz of Delhi NCR. Can be reached at [email protected] with Subject line starting Meenakshi