रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम इंडिया एशिया कप से लगभग बाहर हो गई है. सुपर -4 स्टेज के मुकाबले में भारतीय टीम को पहले पाकिस्तान ने 5 विकेट से हराया. इसके बाद श्रीलंकाई टीम ने टीम इंडिया को 6 विकेट से मात दी. इस हार के बाद टीम इंडिया एशिया कप से लगभग बाहर हो गई है. एशिया कप फाइनल में पहुंचने के लिए भारत के उम्मीदें अब बेहद कम है. एशिया कप में टीम इंडिया की हार का कारण कप्तान रोहित शर्मा और भारतीय मैनेजमेंट का एक गलत फैसला है. कई मैच विनर खिलाड़ियों को भारतीय टीम में एशिया कप के लिए शामिल नहीं किया गया. अगर यह खिलाड़ी एशिया कप में खेलता तो टीम इंडिया टूर्नामेंट से बाहर होने के कगार पर नहीं होती.

मिडल ऑर्डर बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को एशिया कप टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में नहीं चुना गया. श्रेयस अय्यर को स्टैंडबाई खिलाड़ियों के रूप में रखा गया. यह खिलाड़ी अगर टीम इंडिया के मिडिल आर्डर का हिस्सा होता तो बल्लेबाजी इस कदर ना बिखरती. श्रेयस अय्यर की जगह एशिया कप टीम में दीपक हुड्डा को प्राथमिकता दी गई. उसका कारण यह था कि वह बल्लेबाजी के साथ थोड़ी बहुत गेंदबाजी भी कर लेते हैं. हैरानी की बात यह रही कि दीपक हुड्डा ने इस एशिया कप में एक भी बार गेंदबाजी नहीं की. ऐसे में श्रेयस अय्यर को टीम में शामिल ना करना टीम इंडिया के लिए एक घाटे का सौदा साबित हुआ. भारतीय टीम मैनेजमेंट की यह चूक एशिया कप 2022 में भारतीय क्रिकेट टीम की फजीहत का कारण बनी.

वेस्टइंडीज दौरे पर श्रेयस अय्यर ने अपना आखिरी टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेला था. इस मुकाबले में शानदार बल्लेबाजी करते हुए अय्यर ने 40 गेंदों पर 64 रनों की शानदार पारी खेली थी. उनके इस बेहतरीन प्रदर्शन के बावजूद चयनकर्ताओं ने उनकी जगह दीपक हुड्डा को प्राथमिकता दी. अय्यर को अगर टीम इंडिया में मौका मिलता तो शायद भारतीय टीम की कहानी कुछ और होती.
Read This:- टी20 वर्ल्ड कप 2022 में भारतीय खिलाड़ियों का खेलना लगभग तय, तीन धुरंधर खिलाड़ियों की एंट्री, भारत की संभावित 15 सदस्यीय टीम

A journalist from Patna. At @News Desk she reports, writes views, and reviews On Cricket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with the Subject line starting Akanksha.

Leave a comment

Your email address will not be published.