IND vs SA : रवि शास्त्री के तानों से तीन साल पहले संन्यास लेना चाहते थे अश्विन, पहली बार सामने Ravi Shastri पर निकाली भड़ास, लगाए गंभीर आरोप

Advertisements

टी20 वर्ल्ड कप के तुरंत बाद रवि शास्त्री ने भारत के कोच पद से इस्तीफा दे दिया. इसी के साथ भारत को राहुल द्रविड़ के रूप में एक नया कोच मिला, अब जैसे ही रवि शास्त्री ने कोच का पद छोड़ा है उनपर पूर्व और सीनियर प्लेयर बड़े बड़े आरोप लगा रहे हैं अब टीम इंडिया के एक टीम के एक सीनियर प्लेयर ने उन्हीं पर हमला बोल दिया है.

भारत के प्रमुख ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने खुलासा किया है की, रवि शास्त्री ने साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान कुलदीप यादव को नंबर एक स्पिनर बताया था।” दरअसल उस दौरे पर सिडनी टेस्ट में कुलदीप ने पहली पारी में 5 विकेट लिए थे। इसके बाद शास्त्री ने अश्विन से कुलदीप की तुलना करते हुए बड़ा बयान दिया था। शास्त्री ने कहा था, “विदेशों में कुलदीप भारत के नंबर वन स्पिनर हैं। अश्विन सिर्फ भारतीय पिचों पर गेंदबाजी करने के लिए बने हैं।” अश्विन ने पूर्व कोच की इस बात अफसोस जाहिर किया है।

Advertisements

आगे अश्विन ने कहा की शास्त्री की टिप्पणी ने उन्हें ‘ पूरी तरह से हताश कर दिया था.’ अश्विन ने कहा, ‘मैं रवि भाई का बहुत सम्मान करता हूं. हम सब करते हैं और मैं समझता हूं कि हम सब कुछ कहने के बाद भी अपने शब्दों को वापस ले सकते है. उस समय मैं हालांकि बहुत हताश महसूस कर रहा था. पूरी तरह से टूटा हुआ.’

अश्विन ने खुलासा किया की रवि की वजह से मुझे टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें पर्याप्त मौके नहीं दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैंने कई कारणों से संन्यास के बारे में सोचा। मुझे लगा कि लोग मेरी चोटों के प्रति पर्याप्त संवेदनशील नहीं थे। मुझे लगा कि बहुत सारे लोगों का समर्थन किया गया, मुझे क्यों नहीं? मैंने कम नहीं किया है। मैंने बहुत सारे खेल जीते हैं।”  साल 2018 में उन्होंने इंग्लैंड श्रृंखला के बाद संन्यास लेने के बारे में गंभीरता से सोचने लगा था

Advertisements

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.