|

पिता ने शादी के तोहफे में दिए 75 लाख रूपये, बेटी पैसे वापस करते हुए जो बोली उसने लोगो का दिल छु लिया

Advertisements

आज के समय में शादी में दहेज की मांग बहुत बढ़ गई है, एक पिता को अपनी बेटी की शादी करने के लिए कई सालो की जमा पूंजी लगानी पड़ती हैं. यहाँ तक की कभी कभी दहेज देने के लिए घर या जमीन भी गिरबी रखना पड़ता हैं लेकिन राजस्थान में एक लड़की ने मिशाल पेश की.

राजस्थान के बाड़मेर में एक दुल्हन ने अपनी शादी में एक शानदार मिसाल पेश करते हुए ऐसा फैसला किया जो इन दिनों राज्य नहीं, बल्कि देशभर में चर्चा का विषय बनी हुई है। दूल्हन ने शादी में जो दहेज मिलना था वो ना लेकर एक बड़ा काम किया है और उसकी सरहना पुरे देश में हो रही है.

Advertisements

बाड़मेर जिले की मिशाल  पेश करने वाली यह लड़की अंजलि कंवर है। जिसका पिता किशोर सिंह कानोड़ ने कन्यादान लेकर 75 लाख रुपए की रकम उसे तोहफे में दी थी। लेकिन उसने इन रुपयों को बच्चियों की पढ़ाई के लिए बनने वाली गर्ल्स हॉस्टल को दान दे दिए। शादी की रस्में पूरी होने के बाद दुल्हन ने विदाई से पहले एक पत्र और पैसे महंत प्रतापपुरी महाराज दिए।

इस पत्र में बेटियों के लिए छात्रावास निर्माण की बात लिखी थी। साथ ही कन्यादान की राशि भी थी। अंजलि के पिता पहले भी गर्ल्स हॉस्टल के लिए  1 करोड़ रुपए का दान कर चुके हैं।दुल्हन ने कन्यादान में मिले पैसे आपने पास नारखकर  दुल्हन बेटी ने कन्यादान  में मिले 75 लाख रुपए एक गर्ल्स हॉस्टल के लिए डोनेट कर दिए। इस फैसले के पीछे लड़की की एक इमोशनल कहानी सामने आई है

Advertisements

अंजलि ने अपनी शादी से पहले ही पिता किशोर सिंह कानोड़ को कह दिया था कि आप मुझे जितना भी पैसा दहेज के रुप में देना चाहते हैं वह दीजिए। कोई कसर नहीं छोड़ना। लेकिन मैं इन रुपयों को  समाज की बेटियों के लिए गर्ल्स हॉस्टल के निर्माण के लिए देना चाहती हूं।

ड़की के इस फैसले से ना सिर्फ उसके पिता बल्कि उसके ससुर मदन सिंह भाठी रणधा भी बेहद खुश हैं। उन्होंने अंजलि को शाबासी देते हुए कहा कि ऐसी बहू किस्मत वालों को मिलती है। जिसने समाज में एक नया उदाहरण पेश किया है। वह हमारे लिए लक्ष्मी का रूप है।

Advertisements

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.