चुनावों में EVM पर रोक लगाने की मांग कर रही थी वकील, HC ने ₹10000 का जुर्माना लगाकर भेज दिया घर

Advertisement

जब से मोदी सरकार आई है और भारी मतों से जीती है तब से विपक्ष के दिमाग में ये बैठ गया है की EVM हैक किया जा रहा हैं, जब भी कांग्रेस या विपक्ष हारा है उसने EVM पर दोष लगाये है, कई वार तो नेताओ ने ये भी दोष लगाये है की वोट किसी को भी दो भाजपा को ही जाता है.

Advertisement

अब इसी के बीच वकील सीआर जया सुकिन ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी की चुनावो में EVM का प्रोयग ना किया जाये इसपर मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की पीठ ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा

न्यायमूर्ति डीएन पटेल ने याचिकाकर्ता पर 10,000 रुपए का जुर्माना लगाते हुए कहा कि यह याचिका जनहित याचिका बिल्कुल नहीं है, यह स्पष्ट रूप से एक ‘प्रचार हित याचिका’ है।

Advertisement

यह सिर्फ अफवाहों और निराधार आरोपों पर आधारित एक ‘प्रचार हित याचिका’ है।

क्या कहा वकील ने 

रिपोर्ट के मुताबिक  वकील ने कहा, “इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को पूरे भारत में पारंपरिक मतपत्रों से बदला जाना चाहिए क्योंकि मतपत्रों के माध्यम से मतदान किसी भी देश की चुनावी प्रक्रिया के लिए अधिक विश्वसनीय और पारदर्शी तरीका है।”

वकील ने अपनी याचिका में यह भी कहा कि अमेरिका, जापान, जर्मनी और अन्य जैसे विकसित देशों ने चुनावों के दौरान ईवीएम को खारिज कर दिया है और बैलेट से मतदान प्रणाली को चुना है।

Image Source : Dopoltics

Advertisement
admin
Journalist from Gurugram. At @News Desk she report, write, view and review hyperlocal buzz of Delhi NCR. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Meenakshi