डेविड वॉर्नर

सनराइजर्स हैदराबाद को लेकर फिर छलका डेविड वॉर्नर का दर्द, इस बार दे दिया विवादित बयान, जानिए उन्होंने ऐसा क्या कहा?

ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर आईपीएल 2021 तक सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते थे। लेकिन पिछले में उनसे कप्तानी छीन ली गई, उसके बाद सबसे अधिक हैरानी तब हुई जब एसआरएच ने वॉर्नर को रिटेन नहीं किया। क्योंकि वो आईपीएल इतिहास के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक है। इसके अलावा उन्होंने हैदराबाद के लिए बहुत सारी तूफानी पारियां भी खेली है।

शायद आप पहले से जानते होंगे कि साल 2016 के आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने डेविड वॉर्नर की कप्तानी में आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था। उस साल का फाइनल मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और एसआरएच के विरुद्ध खेला गया था, जिसमे हैदराबाद को 8 रनों से जीत मिली थी। इस तरह डेविड वॉर्नर की कप्तानी में हैदराबाद को एकमात्र आईपीएल का खिताब जीतने का सौभाग्य प्राप्त हुआ था। लेकिन फिर भी वह फ्रेंचाइजी वॉर्नर के साथ ऐसा करेगी, इसके बारे में शायद ही पहले किसी ने उम्मीद की होगी।

हैदराबाद को लेकर छलका वॉर्नर का दर्द

भारत के मशहूर खेल पत्रकार बोरिया मजूमदार के एक शो के दैरान डेविड वॉर्नर भी मौजूद थे और उस दौरान उन्होंने कई बड़े खुलासे किए। उस शो में वॉर्नर ने कहा कि जब किसी कप्तान ने बेहतरीन प्रदर्शन किया हो और उसे जब आप हटा देते हो तथा टीम में जगह नहीं देते, उसके बाद युवा क्रिकेटर के साथ-साथ टीम के अन्य खिलाड़ियों को क्या संदेश जाता है। मुझे सबसे बुरा इस चीज को लेकर तब लगा कि जब अन्य खिलाड़ियों को यह समझ में नहीं आया कि उनके साथ भी ऐसा होने की संभावना है।

डेविड वॉर्नर ने आगे कहा कि आखिर में जो कुछ भी हुआ उसका आपको सामना करना चाहिए। यदि आप यह चाहते हैं कि बातचीत हो सकती है तो अवश्य करना चाहिए। उस समय मेरे पास आकर इसके बारे में बात करते और मैं तो आपकी बात काटने वाला था नही। बता दें कि आईपीएल के पिछले सीजन में डेविड वॉर्नर से सनराइजर्स हैदराबाद ने कप्तानी छीन ली थी। उसके बाद प्लेइंग इलेवन से भी उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। क्योंकि उस समय एसआरएच की टीम पॉइंट्स टेबल में सबसे नीचे मौजूद थी। पिछले साल आईपीएल में वॉर्नर सिर्फ आठ मैच खेल पाए थे। उसके बाद उन्हें बेंच पर ही बैठना पड़ा था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.