आईपीएल 2022 के लीग स्टेज का 69 वां मैच दिल्ली कैपिटल्स और मुंबई इंडियंस के बीच मुंबई के फेमस स्टेडियम वानखेड़े में खेला गया। जिसमे मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैलसा लिया। ऐसे में दिल्ली टीम पहले बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी और 7 विकेट के नुकसान पर 159 रन बनाये और इस मैच में अपनी विपक्षी टीम MI को 160 रन का लक्ष्य दिया।

इसके जवाब में मुंबई इंडियंस के गेंदबाजों ने 5 विकेट के नुकसान पर 160 रन हासिल कर इस मैच पर अपनी बिजय हासिल कर ली। जिससे MI को तो कुछ खास फायेदा नहीं मिला, लेकिन DC का प्ले ऑफ में जाने का सपना टूट गया। इसी के चलते हम आपको उन DC द्वारा की गई उन 3 गलतियों के बारे में बताने वाले है, जिनकी वजह से DC को इस मैच में कभी ना भूलने वाली हार का सामना करना पड़ा।

1.फ्लॉप हुआ DC का टॉप आर्डर:-

डेविड वार्नर, मिचेल मार्श और पृथ्वी शॉ दिल्ली के पास वो सलामी बल्लेबाज है, जिन्होंने पिछले मैचों में अपने शानदार प्रदर्शन से टीम को कई मैचों में जीताया है। लेकिन mi के खिलाफ हुए इस मैच में ये ही तीनो धुरंधर बल्लेबाज बुरी तरह फ्लॉप हुए। जिसके खामियाजा DC को इस मैच में हारकर चुकाना पड़ा। जहां डेविड वार्नर 5 रन बनाकर आउट तो वही मिचेल मार्श जीरो पर ही पवेलियन लौट गये। पृथ्वी भी केवल 24 रन ही बना सके। ऐसे में DC ने केवल 31 रन के स्कोर पर 3 विकेट गँवा दिए। वही, 50 रन आते आते सरफराज खान का चौथा विकेट भी गिर गया।

2.कप्तान ऋषभ ने छोड़ा डेवाल्ड ब्रेविस का आसान कैच:-

दरअसल, MI की बैटिंग के समय जब कुलदीप यादव ईशान किशन का विकेट ले चुके थे। इसके बाद सामने डेवाल्ड ब्रेविस थे तब कुलदीप यादव की एक गेंद पर ब्रेविस ने बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन ये गेंद हवा में ऊँची उठ गई थी। और पिच के बीच में थे ऐसे में ऋषभ पन्त या कुलदीप यादव इस सच को पकड थे। ऐसे में साफ हुआ की पन्त इस कैच को पकड़ेंगे और कैच इनके हाथो में आ भी गई थी। लेकिन पन्त से ये कैच छुट गया। जिससे ब्रेविस को जीवनदान मिला और फिर इन्होने अगली 8 गेंद में 11 रन जोड़ डाले। वही, इन्होने अपनी पूरी पारी में 37 रन बनाये। यदि ब्रेविस यहाँ आउट हो जाते तो मैच की तस्वीर बदल जाती।

3.DRS ना लेना पड़ा महंगा:-

टीम डेविड की बैटिंग के समय कप्तान ऋषभपन्त द्वारा DRS ना लेना भी DC के लिए हार का प्रमुख कारण रहा है। दरअसल, जब डेवाल्ड ब्रेविस का विकेट गिरने के बाद टीम डेविड बल्लेबाजी करने के लिए आये तब शार्दुल के ओवर की एक गेंद डेविड के बल्ले से टच होती हुई पन्त के हाथो में चली गई थी। जिसपर अपील भी हुई लेकिन अंपायर ने आउट नहीं दिया। तब कप्तान ऋषभ पन्त को DRS लेना चाहिए था। लेकिन पन्त ने DRS नहीं लिया जिसे टीम डेविड को जीवनदान मिल गया। फिर इस बल्लेबाज ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर MI की जीत की पटकथा लिख डाली।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep.

Leave a comment

Your email address will not be published.