मयंक अग्रवाल

रहाणे और पुजारा की वजह से इस खिलाड़ी के खराब फॉर्म पर नहीं गया किसी का ध्यान, पिछले 21 पारियों में लगाया सिर्फ 1 शतक

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज समाप्त हो चुकी है जिसमे साउथ अफ्रीका की टीम को 2-1 से जीत मिली है। इस टेस्ट सीरीज में खासकर भारतीय बल्लेबाजों ने अपने फैंस को सबसे अधिक निराश किया है, क्योंकि इंडियन खिलाड़ियों के बल्ले से उम्मीद के मुताबिक रन नहीं निकले हैं। यही कारण है कि साउथ अफ्रीका की टीम इस टेस्ट सीरीज पर आसानी से कब्ज़ा करने में सफल रही है।

इस टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मेजबान टीम को 113 रनों से हरा दिया था। उसके बाद अगले दोनों मैचों में साउथ अफ्रीका ने भारत को 7-7 विकेट से करारी शिकस्त दी है। इस टेस्ट सीरीज में सबसे अधिक किसी खिलाड़ी की आलोचना हो रही है तो वो चेतेश्वर पुजारा और अजिक्य रहाणे हैं। क्योंकि इन दोनों बल्लेबाजों को बार-बार भारतीय चयनकर्ता मौका दे रही है, लेकिन फिर भी अच्छी बल्लेबाजी करने में सफल नहीं हो पा रहे हैं। इस वजह से अब पुजारा और रहाणे के क्रिकेट करियर पर खतरा मंडराने लगा है, क्योंकि भारत के पास कई ऐसे खिलाड़ी मौजूद है जो इन दोनों बल्लेबाजों की जगह अच्छी पारियां खेलने की काबिलियत रखते हैं।

इस बल्लेबाज पर नहीं गया किसी का ध्यान

इन दिनों अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की खूब आलोचना हो रही है, लेकिन इन दोनों की आलोचनाओं के बीच एक ऐसा भारतीय खिलाड़ी भी है जो बार-बार फ्लॉप साबित हो रहा है, लेकिन अभी तक उसके ऊपर किसी का भी ध्यान नहीं गया है। हम जिस खिलाड़ी के बारे में बात करने जा रहे हैं उसका नाम मयंक अग्रवाल है।

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के बल्ले से भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रन नहीं निकले हैं, लेकिन इस समय उनके बारे में कोई चर्चा नहीं कर रहा है। क्योंकि वर्तमान में सबकी नजर चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे पर है। लेकिन अब मयंक अग्रवाल पर भी प्रश्न उठने चाहिए, क्योंकि भारत के पास कई ओपनर बल्लेबाज भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तैयार है।

मयंक अग्रवाल दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीन टेस्ट मैचों की 6 पारियों में 22.50 की औसत से सिर्फ 135 रन बनाए हैं। उस दौरान उनकी सबसे बड़ी पारी मात्र 60 रनों की रही है। आपको बता दें कि टेस्ट क्रिकेट के पिछले 21 पारियों के दौरान मयंक अग्रवाल के बल्ले से सिर्फ एक शतक देखने को मिला है, इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि वो कितना अधिक ख़राब फॉर्म से गुजर रहे हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.