इंग्लैंड के पूर्व कप्तान बयान, कहा ऑस्ट्रेलिया को पटकना है तो बनो बुरा, ज्यादा दोस्ताना रवैया ठीक नहीं

इस बार एशेज सीरीज ऑस्ट्रेलिया की धरती पर खेला जा रहा है जिसमे इंग्लैंड की टीम ने बहुत ही निराशाजनक प्रदर्शन किया है। ऑस्ट्रेलिया ने शुरू के दोनों मैच आसानी से जीत लिया है, जिस वजह से कंगारू टीम एशेज सीरीज 2021-22 में फिलहाल 2-0 की बढ़त बना ली है। इंग्लैंड के इस खराब प्रदर्शन की वजह से उनकी खूब आलोचना हो रही है, कुछ फैंस टीम चयन पर प्रश्न उठा रहे हैं तो कुछ कोचिंग स्टाफ पर निशाना साध रहे हैं।

इसी बीच इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने अंग्रेज टीम की उस कमी के बारे में बताया है जिसकी वजह से उन्हें एशेज सीरीज 2021-22 के शुरुआती दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। माइकल वॉन के अनुसार ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध इस सीरीज में इंग्लैंड के खिलाड़ी बहुत ज्यादा दोस्ताना रवैया दिखा रहे हैं। अगर इंगलैंड वापसी करना चाहती है तो उन्हें अब थोड़ा कठोर बनना पड़ेगा।

सीरीज में वापसी करने के लिए बदलना होगा रवैया

फॉक्स क्रिकेट के एक कार्यक्रम के दौरान माइकल वॉन ने कहा कि अगर इंग्लैंड इस सीरीज में वापसी करना चाहती है तो उन्हें दोस्ताना छोड़कर कठोर रवैया अपनाना होगा और बुरा बनाना होगा। फिर उसके बाद अपना जज्बा दिखाना होगा।

साल 2005 एशेज सीरीज में इंग्लैंड को जीत दिलाने वाले कप्तान माइकल वॉन ने यह भी कहा कि इंग्लैंड के खिलाड़ी कुछ ज्यादा भले बने हुए हैं। मैच की सुबह हमने इंगलैंड के खिलाड़ियों को मिचेल स्टार्क तथा नाथन लॉयन से बात करते हुए देखा है। वहीं हम स्टीव वॉ के साथ खेलने वाले दिनों में इस तरह कभी भी बातचीत नहीं करते थे। हमने कभी भी मैच की सुबह ग्लेन मैकग्रा या शेन वार्न के साथ बात नहीं की थी।

इंग्लैंड के कोच ने किया टीम का बचाव

जिस तरह इन दिनों इंग्लैंड की अलोचना हो रही है उससे उनकी टीम के कोच क्रिस सिल्वरवुड भी बहुत दुखी है। इस सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच 27 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाएगा, उस के लिए मंगलवार को जब टीम रवाना हो रही थी। उससे पहले सिल्वरवुड ने कहा कि हमने परिस्थितियों के अनुसार सर्वश्रेष्ठ आक्रमण चुना और उसमे काफी अनुभव भी था। जिस वजह से मैं पिछले दोनों मैचों में अपने आक्रमण से खुश था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.