साल 2019 में मशहूर बॉलीवुड अभिनेता ऋतिक रोशन की फिल्म आई थी सुपर 30. शायद आपने भी ये फिल्म जरुर देखि होगी! इस फिल्म का एक डायलॉग बहुत फेमस हुआ था और वो था- अब राजा का बेटा राजा नही बनेगा, राजा वही बनेगा जो हक़दार होगा! ये डायलॉग आज UPSC में 93 रैंक हासिल करने वाली देश के भरतपुर शहर की रहने वाली दीपेश कुमार पर बिलकुल फिट बैठती है।

एक वक्त था जब दीपेश के पिता जी ठेले पर गाँव गाँव गली गली जाकर सब्जी, स्नेक्स आदि बेचते थे, तब जाकर वो अपने परिवार का खर्चा चला पाते थे। और इसी से कुछ पैसे बचाकर वो अपने बच्चो को पढाई भी करवाते। और इसी में उन्होंने अपना सारा जीवन लगा दिया। लेकिन आज उनकी बेटी दीपेश ने UPSC में 93 रैंक हासिल कर ना केवल अपने पिता की गरीब दूर करने की आशा जगाई बल्कि उनका सर भी गर्व से ऊँचा कर दिया।

लेकिन दीपेश के लिए ये सफलता हासिल करना कोई आसान काम नहीं था। क्योकि इनके घर में कुल 7 सदस्य थे। दो इनके माता पिता और 5 भाई-बहन। पिता की आमदनी इतनी नहीं थी की वो सभी बच्चो की पढाई के लिए और अपने घर का खर्चा भी सही प्रकार से उठा सके। जिस वजह से उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

लेकिन वो कहते है की सफलता की एक फितरत होती है, की वो मेहनत करने वालो पर फ़िदा हो जाती है। दीपेश ने भी परिवार वालो के सहयोग से खूब मेहनत की, पूरी लगन के साथ पढाई में ध्यान दिया और आज अपने अथक प्रयासों से सफलता की बुलंदियों को छू लिया।

जबकि ऐसा कर पाना हर किसी के बस की बात नहीं। क्योकि हम अपने आस पास कई बार ऐसा देखते की लोगो के पास सभी सुख सुविधा होती है, इसके बावजूद भी वो अपनी लाइफ में सफलता हासिल नहीं कर पाते।

बता दे की दीपश ने अपनी शुराती पढाई भरतपुर में ही शिशु आदर्श विद्या मंदिर नाम के स्कूल में किया थी। इसके बाद 98 % अंको के साथ 10th पास किया और फिर 12 th भी 89% अंको के साथ पास किया। इसके बाद दिल्ली में आकर UPSC की तैयारी की और अपने दुसरे प्रयास में ही सफलता की कहानी लिख डाली।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.