|

गाय के गोबर की ईंट और गोबर का ही प्लास्टर, ना गर्मी का फ़िक्र और ना AC की जरूरत, हरियाण के शख्स ने बनाया अद्भुत घर

Advertisements

पुराने कमाने में 90% लोग कच्चे घरो में रहते थे, कच्चे मतलब मिटटी की दीवारे और उसके उपर छप्पर, कच्चे घर इतने ठन्डे हुआ करते थे की जून जुलाई की गर्मी में भी पंखे की जरूत नही पड़ती थी, लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे आधुनिकता बढती गयी.

आज के समय में लोग कच्चे घरो की छोडकर पक्के घरो की तरफ चल दिए हैं जिसमे गर्मी से हल बेहाल है और इससे बचने के लिए AC और पंखो का सहरा लेना पड़ रहा है लेकिन इसी बेच एक किसान ने गोबर से घर बनक सबको हैरान कर दिया है.

Advertisements
(Photo: FB@Dr. SDM)

हरियाणा के डॉ शिव दर्शन मलिक ने गाय के गोबर से वैदिक घर बनाने के की तकनीकी बनाई है, डॉ शिव दर्शन मलिक ने बताया की इस तकनीकी के द्वारा बनाये गए घर में AC की जरूरत नही पड़ेगी, ये घर जून जुलाई के महीने में अंदर से 18 से 27 डिग्री टेंपरेचर पर रहेगा

क्या है वैदिक प्लास्टर

Advertisements
(Photo: FB@Dr. SDM)

डॉ शिव दर्शन मलिक के मुताबिक वे गाय के गोबर से ही ईंट तैयार करते हैं और गोबर से ही वैदिक प्लास्टर तैयार करते हैं. यह प्लास्टर सीमेंट की तरह काम करता है. देसी गाय के गोबर में जिप्सम, ग्वारगम, चिकनी मिट्टी, नींबू पाउडर वगैरह मिलाकर पे वैदिक प्लास्टर (Vedic Plaster) तैयार करते हैं, जो आसानी से किसी भी दीवार पर लगाया जा सकता है.

Advertisements

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.