|

‘फेल हुई तो ब्याह कर देंगे’ घरवालों की बातें सुनकर बंद कमरे की पढाई, 6 महीने के बाद ias बन घर लौटी थी निधि, 83वीं रैंक के साथ टॉप

Advertisements

लडकियों के उपर उनकी शादी का प्रेशर हमेशा रहता है ये प्रॉब्लम गाँव और शहर दोनों जगह रहने वाली लडकियों को देखने के मिलती है. अगर किसी क्लास में फेल हो जाती हैं तो उनकी उसी साल शादी कर दी जाती है ऐसा ही कुछ हुआ निधि के साथ. गुरुग्राम, हरियाणा की रहने वाली निधि सिवाच की जिंदगी पढ़ाई और शादी के बीच लटकी थी। निधि सिवाच आज IAS अफसर हैं.

निधि हरियाणा की रहने वाली हैं निधि ने ग्रेजुएशन भी हरियाणा के एक कॉलेज से किया और मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद हैदराबाद की एक कंपनी में जॉब करने लगीं। यहाँ कुछ दिन नौकरी करने के बाद निधि ने जॉब छोड़ दी और देश की सेवा करने का मन बना लिया.

Advertisements

परिवार वालो ने रखी शादी की शर्त

निधि जब पहली बार पेपर देने के लिए तयारी कर रही थी तब उनके पास मात्र 3 महीने ही बचे थे सिलेबस भी खत्म नहीं कर पायी थीं। दूसरे अटेम्पट में भी उनकी तैयारी वो नहीं थी जैसी की इस परीक्षा के लिए होनी चाहिए। दो बार असफल होने पर घर वालों ने निधि पर शादी का प्रेशर डालना शुरू कर दिया। फिर निधि ने पिता से एक मौका और मांगा। मां-बाप ने धमकी दी कि, इस बार फेल हुई तो पक्का शादी कर देंगे।

Advertisements

परिवार ने शर्त रखी कि परीक्षा में जिस स्टेज में फेल होंगी उन्हें वहीं से रोककर तुरंत शादी कर दी जाएगी। यानी प्री में फेल हुईं तो वहीं से बाहर, मेन्स में हुईं तो वहां से। इसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़ दी और एक कमरे में बंद होकर तैयारी शुरू कर दी. दिन रात पढ़ाई में जुटी रहीं। उन्होंने यूपीएससी की तैयारी के लिए सेल्फ स्टडी का रास्ता अपनाया।

Advertisements

83 वीं रैंक के साथ किया टॉप 

Advertisements

निधि ने खुद को कमरे में कैद कर लिया। 6 महीने के बाद उन्होंने अपने घर का मेन गेट देखा, साल 2018 में निधि ने तीसरे प्रयास में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षाप पास की। उन्होंने 83वीं रैंक के साथ टॉप किया और IAS के लिए चुनी गईं।

Advertisements

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.