IND vs SA : सेंचुरियन के मैदान पर सिर्फ दो टेस्ट मैच हारी है साउथ अफ्रीका

भारतीय क्रिकेट फैंस का मानना है कि इस बार टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका को उसके घर में आसानी से टेस्ट सीरीज जीत दर्ज कर लेगी। क्योंकि वर्तमान में साउथ अफ्रीका की टीम में बहुत सारी कमियां है तथा मेजबान टीम के अधिकतर खिलाड़ी अनुभवहीन है। इस सीरीज का पहला मैच 26 दिसंबर से सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में खेला जाएगा, जहां पर टीम इंडिया का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है।

सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में साउथ अफ्रीका कुल 26 टेस्ट मैच खेली है जिसमे से उन्हें सिर्फ दो मैचों में हार का सामना करना पड़ा है और तीन मैच ड्रा रहे हैं। इस तरह उन्हें सेंचुरियन में कुल 21 टेस्ट मैचों जीत हासिल हुई है। वहीं इस मैदान पर भारतीय टीम का प्रदर्शन इसके विपरीत रहा है, क्योंकि टीम इंडिया यहां पर एक भी टेस्ट मैच जीतने में सफल नहीं हुई है।

पिछले 26 सालों में मेजबान टीम ने खेली है 26 मैच

आपको बता दें कि सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में साउथ अफ्रीका की टीम ने अपना पहला मुकाबला साल 1995 में खेला था, तब से लेकर वहां पर उन्होंने टोटल 26 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमे उन्होंने उम्मीद से भी बढ़कर प्रदर्शन किया है। इस मैदान पर 26 में से 21 मुकाबलों में साउथ अफ्रीका को जीत हासिल हुई है, इससे साफ़ है कि यहां पर किसी भी टीम के लिए मेजबान टीम को हराना बहुत ही कठिन काम है। इस मैदान पर दक्षिण अफ्रीका को सिर्फ इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम हरा पाई है।

सेंचुरियन में भारत को नहीं मिली एक भी जीत

वहीं भारतीय टीम सेंचुरियन के सुपरस्पोर्ट पार्क में कुल दो टेस्ट मैच खेली है और उन दोनों मुकाबलों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। भारत यहां पर दिसंबर 2010 में पहला टेस्ट मैच खेला था, जिसमे भारत को 25 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। उसके बाद दूसरा टेस्ट मैच सेंचुरियन में भारत ने साल 2018 में खेला था, जिसमे साउथ अफ्रीका ने 135 रनों से बड़ी जीत दर्ज की थी।

सेंचुरियन का सुपरस्पोर्ट पार्क साउथ अफ्रीका के लिए लकी साबित रहा है, क्योंकि यहां पर मेजबान टीम 9 मैचों में पारी से जीत हासिल की है। इस वजह से भले ही दक्षिण अफ्रीका की टीम इस बार कमजोर लग रही है, लेकिन फिर भी भारत के लिए मेजबान टीम को सेंचुरियन में हराना आसान नहीं होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *