भारत में पानी के बाद सबसे ज्यादा पी जाने वाली अगर कोई चीज है तो वो है ‘चाय’ । भारतीयों के बीच चाय का चलन काफी आम है। जब हमारे घर कोई दोस्त, रिश्तेदार या मिलने वाला आता है तो हम उसे भी बिना चाय पिलाए नहीं जाने देते। चाहे सुबह की शुरुआत हो या दिन का अंत चाय की चुस्की के साथ ही होता है। और इसी वजह से लगभग हर मोहल्ले और गली के नुक्कड़ पर कोई ना कोई चाय की दूकान या ठेले देखने को मिल जाती है।

इनमे से कुछ दुकाने काफी ज्यादा पॉपुलर होती है, आज हम आपको एक ऐसी ही पॉपुलर चाय की दुकान के बारे में बताने वाले है। जो अब से नहीं बल्कि साल 1947 से चाय के लिए मशहूर है। दिनभर में सैकड़ो लोग इस दुकान पर चाय पीते है। यहाँ रोजाना चाय पीने के लिए लोगो की लम्बी कतार लग जाती है। जी हां, इस दूकान पर देश के कोने कोने से लोग चाय पीने आते है। क्योकि यहाँ चाय का स्वाद ऐसा होता है जहां आपको कही नहीं मिल सकता।

बता दे की ये दूकान राजस्थान के जयपुर में MI रोड पर है। इस दूकान की शुरुआत साल 1947 में देश की आजादी के समय हुई थी। आज इस दूकान को लगभग 75 साल हो चुके है। लोग इस दूकान को ‘गुलाब जी चाय वाले’ के नाम से जानते है। यदि कोई जयपुर आये और गुलाब जी की चाय ना पिए तो उसकी ट्रिप अधूरी मानी जाती है। छोटे से लेकर बड़ा और अमीर से लेकर राजा तक हर कोई इनकी चाय का दीवाना है। बड़े बड़े राजघरानों के लोग यहाँ चाय पीते है।

कहा जाता है की साल 1947 में गुलाब नाम के सख्स ने केवल 130 रूपये खर्च करके इस दूकान की शुरुआत की थी। गुलाब जी एक राज घराने से ताल्लुक रखते थे। ऐसे में उनके घर वालो को गुलाब जी का चाय बेचन बिलकुल भी पसंद नहीं था। लेकिन आज गुलाब जी की चाय महज एक चाय नहीं बड़ा ब्रांड है। जयपुर की शान है लोग बड़े शान के साथ इनकी चाय की चुस्की का मजा लेते है।

लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी की इस दूकान पर जो सबसे महसूर मसाला चाय बेचीं जाती है, उसकी कीमत केवल 20 रूपये है। हालाँकि इसकी कीमत आम स्थानों से कुछ ज्यादा है लेकिन इसका स्वाद इसकी कीमत को वसूल कर देता है। और एक खास बात ये की यहाँ रोजाना 200 से 250 से लोग फ्री में भी चाय पीते है। और इनकी चाय की क्वालिटी भी सेम होती है।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.