मेडिकल छात्रा ने सुनाई पीड़ा कहा-डॉ. बनना चाहती हूं लेकिन सब्जियां बेचने को हूँ मजबूर, मेरी दुर्दशा की कहानी सुनकर रो पड़ोगे

Advertisement

हैदराबाद से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है यहाँ पर मेडिकल थर्ड ईयर की छात्रा पढाई छोडकर सब्जियां बेचने को मजबूर है ये 22 साल की छात्रा मेडिकल की पढाई पूरी करके डॉक्टर बनना चाहती है लेकिन आर्थिक तंगी की वजह से माँ के साथ ठेला लगाकर सब्जियाँ बेचने को मजबूर है

Advertisement

रिपोर्ट के मुताबिक हैदराबाद की रहने वाली अनुषा किर्गिस्तान के एक मेडिकल स्कूल से एमबीबीएस के थर्ड ईयर की पढ़ाई कर रही हैं। लेकिन परिवार में आर्थिक संकट की समस्या उत्त्पन्न हो गयी है जिसके चलते अनुषा किर्गिस्तान  अपनी पढाई की फीस जमा नही कर पा रही है और माँ के साथ सब्जियाँ बेचकर घर का खर्चा चला रही है.

अनुषा किर्गिस्तान बताती हैं की मेरा सपना पढाई पूरी करके डॉक्टर बनने का था लेकिन बढ़ी फीस की वजह से लगता है ये सपना अधुरा ही रह जायेगा, कई बार हमने सरकार से फीस माफ़ या स्कॉलरशिप की सिफारिस की है लेकिन कोई मदद नही मिल रही है

Advertisement

माँ कहती है की उन्होंने बेटी की पढाई के लिए अपने जेवर भी बेच दिए है उसके बाबजूद भी पढाई की फीस जमा नही हो पा रही है, कभी कभी तो लगता है मजबूरियाँ इतना इम्तिहान क्यों लेती है अनुषा की मां सरला ने कहा, ‘मैं एक अशिक्षित हूं और मैं लंबे समय से सब्जियां बेच रही हूं, लेकिन मैं नहीं चाहती कि मेरे बच्चे मेरे जैसे बनें। मैं चाहती हूं कि वे अपने सपनों को हासिल करें और कुछ बनें।

Advertisement