15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है भारत आजादी का दिन, जानिए इस तारीख को चुनने की वजह

भारत देश स्वतंत्र देश है, हल साल 15 अगस्त के दिन भारत का स्‍वतंत्रता दिवस मनाया जाता है, 15 अगस्त 1947  के दिन भारत को आजादी मिली थी, भारत की आजादी में हमारे स्‍वतंत्रता सेनानियों का बड़ा योगदान था और दिन हम सभी स्‍वतंत्रता सेनानियों को याद करते हैं.

क्या कभी आपने सोचा है आखिर क्यों 15 अगस्त को ही भारत का स्‍वतंत्रता दिवस दिवस मनाया जाता है? और ये तारीख किसने निर्धारित की थी? कहा जाता है भारत रात के समय में आजाद हुआ था लेकिन हम स्‍वतंत्रता दिवस दिन में मनाते हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक जब भारत आजद हुआ था उस समय उस समय भारत में लॉर्ड माउंटबेटन का शासन था. माउंटबेटन ने ही निजी तौर पर भारत की स्‍वतंत्रता के लिए 15 अगस्‍त का दिन तय करके रखा था. कहा जाता है लॉर्ड माउंटबेटन अपने कार्यकाल में इस दिन को सबसे ज्यादा लकी मानते थे.

ये भी कहा जाता है की भारत का स्‍वतंत्रता दिवस 3 जून को घोषित किया गया जो की ज्योतिषी के मुताबिक सही था  लेकिन बाद में इसको  15 अगस्त कर दिया गया, इसपर पर भारतीय ज्योतिष ने नारजगी उठाई क्योंकी ये दिन अशुभ और अमंग्लाकरी था.

फिर काफी मसक्कत कके बाद ज्योतिषों ने इसका हल निकाल लिया, ये मुहूर्त 11 बजकर 51 मिनट से शुरू होकर 12 बजकर 15 मिनट तक पूरे 24 मिनट तक की अवधि का था. ये भाषण 12 बजकर 39 मिनट तक दिया जाना था. इस तय समय सीमा में ही जवाहरलाल नेहरू को भाषण देना था.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.