मिलिए सलीमा मज़ारी से जो खुद की फौज बनाकर तालिबान को दे रही है टक्कर, कर रही है मुल्क की सुरक्षा

Advertisement

तालिबान अपने पड़ोसी मुल्क अफगनिस्तान पर जमकर कहर बरपा रहा है. अफगनिस्तान के लोग डर के साये में जी रहे हैं. सारा मुल्क खौफ में जी रहा है तालिबान ने अफगनिस्तान के कई प्रान्तों में कब्जा कर लिया है, तालिबान के सामने अफगान की सेना पस्त होती नजर आ रही है लेकिन इसी बीच एक महिला तालिबानियों को सीधी टक्कर देती दिख रही है.

Advertisement

हम जिस महिला की बात कर रहे हैं उस महिला का नाम है सलीमा मंजारी. सलीमा मंजारी चारकिंट जिले की लेडी गवर्नर है. सलीमा मंजारी ने तालिबान को टक्कर देने के लिए खुद की सेना बना दी है उनकी फ़ौज इतनी खतरनाक है की तालिबान उनपर हमला करने के पहले बार-बार सोच रहा है. वह लोगों की ढाल बन गई हैं.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनकी फ़ौज में 600 से ज्यादा सैनिक है, इसके साथ साथ वो अपने इलाके में घूम घूमकर लोगो से रिक्वेस्ट कर रही है की आओ और उनकी सेना में जुडो  उनका कहना है कि अफगानिस्तान को आतंक के राज से बचाना बहुत जरूरी है

Advertisement

रिपोर्ट के मुताबिक  सलीमा मंजारी का जन्म 1980 में ईरान में एक रिफ्यूजी तौर पर हुआ था, इनकी शुरुआत पढाई ईरान में हुई थी.उन्होंने तेहरान से स्नातक की पढाई करी थी. अगर वो चाहती तो तेहरान में रह सकती थी  लेकिन, उन्होंने गैर मुल्क में रहने की जगह अफगानिस्तान में आकर काम करने का फैसला लिया. वह बल्ख सूबे के चारकिंट की गवर्नर भी बनीं.

Advertisement