8 जून, दोपहर 2 बजे, ये वो समय और दिन रहा जब भारतीय महिला क्रिकेट टीम की शान मिताली राज ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। और इसी के साथ भारतीय महिला क्रिकेट के एक स्वर्णिम युग का अंत हो गया। मितली ने अपने 23 साल के क्रिकेट कैरियर में दुनिया के हर ग्राउंड में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से रनों की जमकर बरसात की और कई सालो तक अपनी शानदार कप्तानी से भी सभी को प्रभावित किया।

इन्होने अपने क्रिकेट कैरियर में ढेरो रिकॉर्ड कायम किया। इनके नाम इतने रिकॉर्ड है की कोई भी पुरुष क्रिकेट खिलाड़ी सिवास सचिन तेंदुलकर के इनके रिकॉर्ड का सामना नहीं कर सकता। इसी वजह से आज मिताली को महिला क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर भी कहा जाता है। इसी के चलते आज हम आपको मिताली के वो 10 रिकॉर्ड बताने वाले है, जिनकी वजह से वो जानी जाती है।

1.महिला क्रिकेट में रहा सबसे लम्बा कैरियर:-

बता दे की मिताली का क्रिकेट कैरियर 22 साल 274 दिन तक चला, जोकि विश्व महिला क्रिकेट में सबसे अधिक है। इन्होने अपना वनडे डेब्यू मैच साल 1999 में 26 जून को आयरलैंड के खिलाफ खेला था। और आखरी मैच 27 मार्च 2022 को साऊथ अफ्रीका के खिलाफ।

2. वनडे में 7 हजार रन का आकडा छूने वाली एकलौती महिला क्रिकेटर:-

बता दे की मिताली राज ने अपने वनडे कैरियर में कुल 7805 रन बनाये। और इसी के साथ महिला क्रिकेट की दुनिया में 7 हजार रन का आकडा छूने वाली सबसे पहली और एकलौती महिला क्रिकेटर बनी।

3.अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा:-

इन्होने अपने 23 साल के क्रिकेट कैरियर में कुल मिलाकर 333 मैच खेले है, जिनमे इन्होने 10,868 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। जोकि महिला क्रिकेट में किसी अन्य खिलाड़ी के नाम नहीं है।

4.विश्वकप में लगातर 7 फिफ्टी:-

मिताली ने साल 2017 के वर्ल्डकप में लगातार 7 फिफ्टी जड़ी थी। जोकि वर्ल्ड कप में सबसे जयादा लगातार अर्धशतक लागने का रिकॉर्ड है।

5. सबसे कम उम्र में वनडे में जड़ा शतक:-

ये अनोखा रिकॉर्ड भी मिताली के नाम है। मिताली ने केवल 16 साल 205 दिन की उम्र में अपना पहला वनडे शतक जड़ा था।

6. वनडे में सबसे ज्यादा फिफ्टी:-

मिताली ने अपने वनडे क्रिकेट कैरियर में 7 शतक और 64 फिफ्टी जमाई है। इस दौरान करीब 71 बार सबसे ज्यादा 50+ का स्कोर बनाने में सफल हुई।

7. सर्वाधिक वनडे वर्ल्डकप:-

भले ही अपनी कप्तानी में मिताली राज भारत को वनडे वर्ल्डकप नहीं जीता पाई। लेकिन इन्होने सबसे अधिक 6 वनडे वर्ल्डकप में भारत का प्रतिनिधित्व किया। जबकि सचिन तेंदुलकर ने भी 6 बार वनडे वर्ल्डकप खेला है।

8.वनडे वर्ल्डकप के फाइनल में खेलने वाली एक एकलौती कप्तान:-

बता दे की मिताली राज अपनी टीम को दो बार साल 2005 और 2017 के वनडे वर्ल्डकप के फाइनल में पंहुचा चुकी है। यानि मिताली वनडे वर्ल्डकप के फाइनल में दो बार खेलने वाली एकमात्र भारतीय कप्तान है। जबकि पुरुष क्रिकेट में अभी तक कोई भी भारतीय ऐसा नहीं कर पाया है।

9. टी 20I में सबसे ज्यादा 2 हजार रन:-

मिताली ने 2006 से लेकर 2019 तक 89 टी 20 मैच खेले है। जिनमे इन्होने 2364 रन बनाये है। इसी के साथ मिताली पुरुष और महिला दोनों में सबसे पहले 2000 रन का आकड़ा छूने वाली बल्लेबाज बन थी।

10.सबसे ज्यादा की कप्तानी:-

आकड़ो के अनुसार मिताली राज ने 155 वनडे मैचों ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तानी की है। जिसमे से 89 मैचों में मिताली ने भारत को जीत दिलाई है, और 63 में हार का सामना करना पड़ा। वही, 3 मैच बेनतीजा रहे।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.