एशिया कप के बाद अब सभी क्रिकेट फैंस ICC टी 20 वर्ल्डकप 2022 का बड़ी बेसब्री से इन्तजार कर रहे है. इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली टीमें भी इस टूर्नामेंट को जीतने के लिए अपनी अपनी रणनीति तैयार कर रही है. वही, बात भारतीय टीम की करे तो इसके लिए BCCI ने भी 15 सदस्यीय टीम स्क्वाड का ऐलान कर दिया है. इसमें कई अनुभवी खिलाडियों को शामिल किया गया है और कुछ नए खिलाडियों को भी इसमें पहली बार खेलने का मौका दिया गया है.

वर्ल्डकप के लिए शमी को टीम स्क्वाड में किया जा सकता है शामिल:-

लेकिन हर बार की तरह इस बार भी टीम इण्डिया के सिलेक्शन को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे है. इनमे से एक मोहम्मद शमी को इस वर्ल्डकप के लिए मुख्य 15 सदस्यीय टीम स्क्वाड में शामिल ना करना भी है. इससे शमी के फैंस काफी नाराज है. लेकिन अब शमी के फैंस के लिए बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है. खबर है की मोहम्मद शमी को मुख्य 15 सदस्यीय टीम स्क्वाड में शामिल किया जा सकता है.

जी हां, BCCI के अधिकारी ने बाताया की वर्ल्डकप के लिए चुनी गई 15 सदस्यीय टीम स्क्वाड में बदलाव हो सकता है. और मोहम्मद शमी को शामिल किया जा सकता है. BCCI के अधिकारी ने कहा की, वर्ल्डकप से पहले ऑस्ट्रेलिया और साऊथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज में शमी को इसी लिए मौका दिया गया है. यदि वो इन सीरीज में अच्छा प्रदर्शन करते है तो उन्हें मुख्य टीम स्क्वाड में शामिल कर लिया जायेगा.

कब किया जायेगा शामिल:-

अधिकारी ने बताया की इस बार वर्ल्डकप शुरू होने से पहले लगभग 1 हफ्ता पहले यानी 10 अक्टूबर को इसपर अंतिम फैसला लिया जाएगा. उस समय तक टीम में बदलाव का अधिकार है. यदि शमी ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करते है तो उनका टीम में शामिल होना टी है. हालंकि, इसके लिए BCCI को पहले टूर्नामेंट डायरेक्टर से परमिशन लेनी होगी.

क्यों क्या जाएगा शामिल और फिर किसे किया जाएगा बाहर:-

दरअसल, इस समय चुनी गई टीम को देखे तो इसमें जसप्रीत बुमराह के अलावा कोई भी ऐसा गेंदबाज नहीं है जो 140 से अधिक की स्पीड से गेंदबाजी करता हो. जबकि, ऑस्ट्रेलिया की पीचे तेज और सीम होती है. और शमी जिस तरह के गेंदबाज है उस हिसाब से इन तेज और सीम पिचों पर शमी बल्लेबाजो के लिए परेशानी का सबब बन सकती है. साथ ही शमी के पास स्पीड भी है ऐसे में यदि शमी को मौका मिलता है तो ये टीम इण्डिया के लिए काफी फायदेमंद होगा.

लेकिन इसके बदले में भुवनेश्वर कुमार को बाहर किया जा सकता है. एशिया कप में भी भारतीय टीम को तेज गेंदबाज की कमी खली थी. तब आवेश खान ही तेज गेंदबाज थे लेकिन वो फॉर्म में नहीं थे बाद में बुखार की वजह से उन्हें बाहर भी होना पड़ा. इसके बाद bhuvi पर तेज गेंदबाज की जिम्मेदारी आई. लेकिन ये डेथ ओवर में बिलकुल भी नहीं चल पाए.

डेथ ओवर में इनकी खराब गेंदबाजी की वजह से भारत को सुपर-4 में पहले पकिस्तान और फिर श्रीलंका से हार का सामना करना पड़ा. हालाँकि, वर्ल्डकप से पहले शमी के साथ bhuvi को भी ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका के खिलाफ चुना गया है. यदि bhuvi यहाँ भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए तो WC के लिए शमी को शामिल कर bhuvi को बाहर कर दिया जाएगा.

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep.