क्रिकेट इतिहास के इन 4 मनहूस रिकॉर्ड्स

क्रिकेट इतिहास के इन 4 मनहूस रिकॉर्ड्स को कोई भी खिलाड़ी नहीं बनाना चाहेगा, नंबर 1 की वजह से बल्लेबाजों को सबसे ज्यादा दुख होता है

दुनिया का हर क्रिकेटर अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी करना चाहता है, लेकिन प्रत्येक दिन ऐसा नहीं हो पाता। कई बार खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करके बड़े-बड़े रिकॉर्ड बना देते हैं, लेकिन कई बार उनके नाम ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हो जाता है जिसके बारे में उन्होंने कभी कल्पना तक नहीं की होती है। आज हम आपको क्रिकेट जगत के उन 4 रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं जो दुनिया का कोई भी खिलाड़ी कभी नहीं बनाना चाहेगा।

1. नर्वस नाइंटीज का शिकार

दुनिया का हर क्रिकेटर शानदार बल्लेबाजी करते हुए शतक जड़ना चाहता है। लेकिन कई बार वो अच्छी बल्लेबाजी कर रहा होता है, लेकिन जब वो 90 से 99 रनों के बीच पहुँचते हैं तो उन्हें आउट होकर पवेलियन का रास्ता देखना पड़ता है। इसे नर्वस नाइंटीज के नाम से जाना जाता है। टीम इंडिया के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक 28 बार नर्वस नाइंटीज का शिकार हुए हैं। यह एक ऐसा रिकॉर्ड है जो दुनिया का कोई भी बल्लेबाज नहीं बनाना चाहेगा।

2. सबसे अधिक बार शून्य पर आउट होना

जब कोई खिलाड़ी मैदान पर बल्लेबाजी करने के लिए जाता है तो उनकी पहली सोच खाता खोलने की होती है, लेकिन कई बार जब किस्मत उनके साथ नहीं होता है तो उस स्थिति में उन्हें शून्य पर आउट होना पड़ता है। इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक बार शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड श्रीलंका के पूर्व तूफानी बल्लेबाज सनथ जयसूर्या के नाम है जो 53 बार खाता खोलने में सफल नहीं रहे हैं।

3. वनडे और टी-20 के एक ओवर में सबसे अधिक रन

वनडे क्रिकेट के एक ओवर में सबसे अधिक रन देने का रिकॉर्ड हॉलैंड के वान बंग्ज के नाम दर्ज है। साल 2007 में साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज हर्षल गिब्स ने वान बंग्ज की लगातार 6 गेंदों पर 6 छक्के जड़ दिए थे। वहीं टी-20 में युवराज सिंह ने साल 2007 में इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड की 6 गेंदों पर 6 छक्के लगा दिए थे। यह एक ऐसा रिकॉर्ड है जिसे कोई भी गेंदबाज कभी नहीं बनाना चाहेगा।

4. टेस्ट क्रिकेट के एक ओवर में सबसे अधिक नो बॉल

साल 1993 में ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच एक टेस्ट मैच खेला जा रहा था और उस मुकाबले में वेस्टइंडीज टीम के तेज गेंदबाज कर्टली एंब्रोस ने एक ओवर में 9 नो बॉल फेंक दी थी, जिस वजह से उस ओवर में कुल 15 गेंद हो गए थे। यह क्रिकेट इतिहास के सबसे खराब ओवेरों में से एक है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.