हाल ही में रणजी ट्रॉफी 2022 के टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला बेंगलुरु के एम् चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया था। जिसमे मध्यप्रदेश की टीम ने 41 बार की चैंपियन टीम मुंबई को करारी मात देकर अपनी ऐतिहासिक जीत दर्ज की। और 67 साल से ट्राफी ना जीतने के सूखे को ख़त्म कर दिया। जिसके बाद अब चारो तरफ मध्यप्रदेश की टीम और उसके खिलाड़ियों की जमकर तारीफ हो रही है।

वैसे तो मध्यप्रदेश टीम की इस ऐतिहासिक जीत में टीम के सभी खिलाड़ियों का खासा योगदान रहा है, लेकिन इनमे दिग्गज बल्लेबाज यश दुबे की भूमिका इन सबसे अलग रही। जी हां, इन्होने फाइनल मुकाबले में भी टीम के लिए 133 रनों की तूफानी शतकीय पारी खेलकर सभी को चौका दिया। इसके आलवा इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में भी चौथे बल्लेबाज रहे।

लेकिन यश दुबे को भी यहाँ तक पहुंचें के लिए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। बताया गया की यश का बचपन काफी अंधेरे में बिता है। जी हां, ऐसा इसलिए क्योकि दुबे की की आँखे बचपन से ही कमजोर है। वो शुरुआत में चश्मा लगाकार क्रिकेट खेलते थे जिस वजह से सेलेक्टर्स उन्हें टीम से बहार का रास्ता दिखा दिया करते थे। लेकिन आज वही सेलेक्टर्स है जो दुबे जी वाहवाही करते नहीं थक रहे है और उनकी तारीफ में जमकर कसीदे पढ़ रहे है।

दुबे जी के बचपन के कोच शैलेश शुक्ल बताते है की, जब वो 8-9 साल का था तब उसने मेरी कोचिंग अकादमी में एडमिशन लिया था। तब उसे आँखों की तरफ से पढने लिखने में काफी दिक्कत होती थी, जिसके लिए डॉक्टर्स ने भी उसे चश्मा पहनने की सलाह दी। लेकिन क्रिकेट में किसी ख़िलाड़ी की दोनों आँखे सही होना जरुरी होती है, जिस वजह से चयनकर्ता उसका सिलेक्शन करने से कतराने लगे।

शैलेश शुक्ल आगे कहते कहते है की, ये सिलसिला काफी लम्बे समय तक चल। लेकिन यश ने हार नहीं मानी। और क्रिकेट में संघर्ष जारी रखा। साथ साथ ही उसने चश्मे की जगज आई कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। जिसके बाद उसके क्रिकेट में काफी सुधार आया। इसका परिणाम अब आपके सामने है। 

बता दे की इस खिलाडी ने इस पुरे टूर्नामेंट में 10 पारियों में 76.75 के स्ट्राइक रेट से 614 रन बनाये है। इस खिलाडी ने साल 2018 में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया था और अब तक कुल 22 मैच खेले है जिनमे इसने 1473 रन बनाये है।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep.

Leave a comment

Your email address will not be published.