बांग्लादेश

NZ vs BAN : बांग्लादेश ने टेस्ट क्रिकेट में रचा इतिहास, इस मामले में बनी पहली एशियाई टीम, भारत भी ऐसा करने में रही असफल

बांग्लादेश की टीम इन दिनों न्यूजीलैंड दौरे पर है जहां वो मेजबान टीम के साथ दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेल रही है। इस सीरीज का पहला मुकाबला माउंट माउंगानुई में खेला गया है जिसमे बंगलदेश की टीम ने 8 विकेट से मुकाबला जीत लिया है। इस जीत के साथ बांग्लादेश की टीम ने इतिहास रच दिया है, क्योंकि पहली बार ऐसा हुआ जब कीवी टीम को बांग्लादेश जैसी टीम के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में हार का सामना करना पड़ा है।

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में न्यूजीलैंड की टीम फिलहाल भारत के बाद दूसरे स्थान पर है और पिछले साल टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल मुकाबले में उन्हें जीत मिली थी। उस दौरान न्यूजीलैंड ने भारत को बुरी तरह हराया था, लेकिन इस बार मेजबान टीम को अपने घर में बांग्लादेश जैसी छोटी टीम के सामने भी घुटने टेकने पड़े हैं। इससे साफ़ होने लगा है कि अब बांग्लादेश टीम को भी कमजोर समझना बहुत बड़ी बेवकूफी है, क्योंकि अब उनके पास भी कई बेहतरीन खिलाड़ी मौजूद है जो इन दिनों बेहतरीन गेंदबाजी और बल्लेबाजी कर रहे हैं।

बांगलादेश ने इस मामले में भारत को पीछे छोड़ा

इस जीत के साथ बांगलादेश एशिया की पहली ऐसी टीम बन गई है जो पिछले 10 सालों में पहली बार न्यूजीलैंड को टेस्ट क्रिकेट में उसके घर पर हराया है। बता दें कि यह कारनामा आज से 10 वर्ष पूर्व साल 2011 में पाकिस्तान ने किया था। उस दौरान न्यूजीलैंड को अपने घर पर पाकिस्तान के हाथों टेस्ट क्रिकेट में हार का सामना करना पड़ा था। लेकिन टीम इंडिया पिछले दस सालों के अंदर ऐसा करने में सफल नहीं हो पाई है।

बांग्लादेश ने 8 विकेट से जीता मैच

इस मुकाबले में न्यूजीलैंड की टीम पहले बल्लेबाजी करती हुई पहली पारी में 328 रन बनाई थी। उसके जवाब में बांग्लादेश 458 रन बनाने में सफल रही। उसके बाद दूसरी पर मेजबान टीम मात्र 169 रनों पर ऑल आउट हो गई। इस तरह दूसरी पारी में बांग्लादेश ने दो विकेट खोकर आसानी से 42 रन बना लिया और मैच 8 विकेट से जीत लिया।

आपको बता दें कि बांग्लादेश की टीम क्रिकेट के तीनो फॉर्मेट को मिलाकर पहली बार न्यूजीलैंड की धरती पर कोई मैच जीत पाई है। कीवी टीम के खिलाफ उसके घर में इससे पहले बांग्लादेश कुल 9 टेस्ट, 16 वनडे और 7 टी-20 मैच खेली थी और उस दौरान उन्हें कभी भी जीत नसीब नहीं हुआ था। लेकिन अब यह सपना भी बांग्लादेश का पूरा हो गया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.