भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ऐसे कई धुरंधर बल्लेबाज हुए है, जिन्होंने अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से दुनिया के हर मैदान में रनों की जमकर बरसात की। और अपने कमाल के खेल प्रदर्शन के दम पर दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों के दिलो में अपनी अमिट छाप छोड़ दी। इन सभी धुरंधर बल्लेबाजो में प्रमुख रूप सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली, वीरेंद्र सहवाग और सुरेश रैना जैसे बल्लेबाजो को शामिल किया जाता है। जिन्होंने अपने खेल के दम पर क्रिकेट की दुनिया में ढेर सारे रिकॉर्ड कायम किये।

इन्होने अपने समय में भारतीय क्रिकेट टीम से लेकर आईपीएल में अपनी अपनी फ्रैंचाइज़ीयो तक कमाल का प्रदर्शन किया। और ढेर सारी यादगार पारियाँ खेली,जिन्हें फैन्स आज भी गर्व से याद करते है। इसी के चलते क्रिकेट प्रेमियों को साल 2014 के आईपीएल सीजन में खेली गई सुरेश रैना की विस्फोटक पारी की याद तब आ गई जब इस आईपीएल 2022 के 68 वें मैच में मोईन अली की 93 रन की तूफानी पारी के बावजूद भी CSK को RR के हाथो 5 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा।

इस मैच में मोईन अली ने ट्रेंट बोल्ट के एक ओवर में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर 1 छक्का और 5 चौके लगाये और इस के ओवर में 26 रन लुटे। लेकिन इसकी खासियत ये थी की ये सारे शॉट बाउंड्री पर जाकर लगे। और ऐसा कर पाना किसी भी बल्लेबाज लिए आसान कम नहीं। इनकी इस तूफानी पारी को देखरक ही फैन्स को रैना की साल 2014 में खेली 87 रन की तूफानी पारी खेली थी जिक्से बावजूद भी CSK को मैच में हार का सामना करना पड़ा था।

दरअसल, साल 2014 के पेप्सी इंडियन प्रीमियर लीग के क्वालीफाई-2 में पंजाब किंग्स और चेन्नई सुपर किंग्स आमने सामने थे। तब पंजाब की तरफ से वीरेंद्र सहवाग 58 गेंदों में 12 चौको और 8 छक्को की मदद से 112 रन ठोके जिसकी बदौलत PBKS, CSK के सामने 227 रन का टारगेट सेट किया था। तब CSK की तरफ से आईपीएल खेल रहे रैना, सहवाग की इस 112 रन की पारी से काफी प्रभावित हुए।

ऐसे में जब CSK की तरफ से ओपनिंग करने मैदान में उतरे फाफ डुप्लेसिस गोल्डन डक आउट हुए तब 3 नंबर पर सुरेश रैना क्रीज पर आये। तब इन्होने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए केवल 25 गेंद में 87 रन ठोक दिए। लेकिन इससे भी दिलचस्प बात ये ही की इसी पारी के दौरान इन्होने परविन्द्र अवाना के छठे ओवर में 2 चौको और 5 बाउंड्री छक्को की मदद से 33 रन लुट लिया थे जिनमे से एक नो बॉल थी। वही, केवल 16 गेंद में अपना अर्द्धशतक भी जमा डाला था।

लेकिन अगले ही ओवर में अपने जोडीदार के साथ हुई कुक मिस अंडरस्टैंडिंग के चलते अपना विकेट गँवा बैठे थे । जिस कारण CSK को इस मैच में 24 रन से हार का सामना करना पड़ा था। वही, इसी साल पंजाब किंग्स सहवाग की विस्फोटक पारी की बदौलत फाइनल में पहुच पाई थी। लेकिन फाइनल में PBKS को कोलकाता के हाथो हार का सामना करना पड़ा। और तब KKR ने ट्रॉफी जीती थी।

ऐसा था रैना का छठा ओवर :-
  • 5.1-मिड विकेट बाउंड्री 6 रनों के लिए
  • 5.2-लेंथ बॉल पर लॉन्ग ऑन बाउंड्री 6 रनों के लिए
  • 5.3- फ्लिक किया 4 रनों के लिए मिडविकेट बाउंड्री
  • 5.4-डीप स्क्वायर बाउंड्री 4 रनों के लिए
  • 5.5-नो बाल-4 रन(फुल टॉस-थर्ड मैन बाउंड्री)
  • 5.5-लेंथ बॉल, मिड ऑन के ऊपर से बाउंड्री 4 रनों के लिए
  • 5.6- बाउंड्री 4 रनों के लिए

 

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.