अगले महीने अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में ICC टी-20 वर्ल्डकप का आयोजन होना है. इसके लिए इस मेगा टूर्नामेंट में भाग लेने वाली सभी टीमें अपनी अपनी तैयारीया कर रही है और इस मेगा टूर्नामेंट के आगाज होने से पहले खुद की ताकत को जांच रही है. ये काम भारतीय टीम भी कर रही है, लेकिन अब भारतीय टीम की सारी पोल खुल गई है. इसके बाद अब भारतीय टीम का वर्ल्डकप जीतना बेहद मुश्किल लग रहा है.

जी हां, बता दे बीते मंगलवार को घरेलु मैदान पर मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 मैचों की टी-20 सीरीज का आगाज हुआ. और इस सीरीज के पहले ही मैच में भारतीय टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा. इसमें हैरानी की बात तो ये है की भारतीय टीम 208 रन का विशालकाय स्कोर खड़ा करने के बाद भी ये मैच हार गई.

इससे जाहिर है की टीम इण्डिया की बल्लेबाजी भले ही कैसी हो लेकिन गेंदबाजी वर्ल्डकप में जाने लायक नहीं है. जी हां, क्योकि इस मैच में देखा गया की भारतीय गेंदबाजों की खूब पिटाई हुई. इसी के चलते हम आपको टीम इण्डिया की उन कमियों को बताने वाले है, जिन्हें कप्तान रोहित और कोच द्रविड़ को WC से पहले ठीक करना होगा. वरना, WC जीतने का सपना देखना छोड़ दीजिये..

वर्ल्डकप में क्या होगी प्लेइंग 11, इसके बारे में कुछ भी क्लियर नहीं:-

जी हां, भरतीय टीम की ये सबसे बड़ी कमी है. और इसको उजागर किया है लिजेंड्री पूर्व क्रिकेटर आशीष नेहरा ने. नेहरा का कहना है की उमेश टीम के प्लान में नहीं थे, लेकिन वो अचानक से आ गये. शमी उनसे आगे थे. उन्होंने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था. वही, जब दीपक फिट है तो उन्हें क्यों नहीं खिलाया गया. इससे ये ही जाहिर होता है की टीम प्रबंधन अभी तक कंफ्यूजन में है.

बुमराह पर निर्भरता:-

दरअसल, भुवि जब गेंदबाजी करते है तो वो शुरुआती ओवर में कुछ फायदेमंद होते है. लेकिन डेथ ओवर में एकदम फिसड्डी. इससे पता चलता है की भारतीय गेंदबाजी बुमराह पर काफी अधिक निर्भर है. और ये टीम के लिए चिंता का विषय है. बुमराह, शुरू से लेकर डेथ ओवर तक एक जैसी गेंदबाजी करते है.

वही, इसके बाद चहल की गेंदबाजी को लेकर भी बड़ा प्रश्न चिन्ह है. जिस तरह वो गेंदबाजी कर रहे है उसमे वेरिएशन नजर नहीं आता. ऐसे में यदि WC में चहल मुख्य स्पिनर होंगे तो ये टीम के लिए महंगा साबित हो सकता है. इससे अच्छा तो रविबिश्नोई को चुना जाये. उन्होंने एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ एक मैच खेला और उसमे ही अच्छा प्रदर्शन किया.

बार बार सबक लेना:-

दरअसल, जब टीम इण्डिया को हार का सामना करना पड़ रहा है, तब मैच के बाद कप्तान रोहित शर्मा येही कहते है की हम इससे सीख लेंगे. लेकिन कब तक? अब WC शुरू होने में ज्यादा समय नहीं बचा है.

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep.