ऋषभ पंत
ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp Group Join Now

साउथ अफ्रीका और टीम इंडिया के बीच चल रहे तीन मैचों की ओडीआई सीरीज में दो मुकाबले खेले जा चुके हैं और उन दोनों मैचों के दौरान दक्षिण अफ्रीका को जीत हासिल हुआ है। इसी वजह से भारतीय टीम यह वनडे श्रृंखला गंवा दिया है। इस बार दक्षिण अफ्रीका दौरे पर भारत टेस्ट और वनडे में से किसी भी प्रारूप में सीरीज जीतने में सफल नहीं रही है। यही कारण है कि भारतीय फैंस इन दिनों बहुत निराश है, क्योंकि दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले यह उम्मीद किया जा रहा था कि इस बार भारत आसानी से दोनों श्रृंखला जीत लेगा, लेकिन वैसा कुछ भी देखने को नहीं मिला।

दूसरे वनडे मैच में क्यों हारी टीम इंडिया?

इस वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबका 21 जनवरी को खेला गया, जिसमे भारतीय टीम के कप्तान केएल राहुल ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 287 रनों का स्कोर खड़ा किया। उस दौरान इंडिया की तरफ से युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने सबसे बड़ी 85 रनों की अच्छी पारी खेली।

जब उस मुकाबले में भारत को हार का सामना करना पड़ा, उसके बाद पंत ने कहा कि पहले ओडीआई मुकाबले में हमने चेज किया था। फिर दूसरे मुकाबले में हमने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इस श्रृंखला के पहले मैच में जब साउथ अफ्रीका बल्लेबाजी कर रही थी, तब विकेट बल्लेबाजी के लिए बेहतर था। लेकिन दूसरी पारी में विकेट धीमी हो गई। दूसरे ओडीआई मैच में भी यही देखने को मिला है, लेकिन इस बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी मिडिल ओवर्स में शानदार बल्लेबाजी की है, इसी वजह से वो इस स्कोर को चेज कर लिया। वहीं हम मिडिल ओवेर्स में विकेट झटकने में सफल नहीं रहे।

दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर्स ने अच्छी गेंदबाजी की

इस श्रृंखला के पहले मुकाबले में स्पिन गेंदबाजों के लिए ज्यादा कुछ मदद नहीं थी, लेकिन दूसरे मुकाबले में स्पिनर्स को ज्यादा मदद मिल रहा था। वहीं भारत के पास रविचंद्रन अश्विन और यजुवेंद्र चहल जैसे अनुभवी स्पिन गेंदबाज थे, लेकिन फिर भी इन्होने उम्मीद के मुताबिक गेंदबाजी नहीं की। इसके बारे में पंत कहा कि इस मुकाबले में अश्विन और चहल के मुकाबले दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर्स ने बेहतर गेंदबाजी की है जिस वजह से उन्हें उसका फायदा भी मिला है। हम काफी लंबे समय के बाद ओडीआई क्रिकेट खेल रहे हैं, इस वजह से टीम के बारे में बहुत कुछ कहा जा सकता है। लेकिन हमें सिर्फ अपनी गलतियों को सुधारना है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *