|

जज्बे को सलाम! शादी के बाद पढ़ना चाहती थी इसलिए ४५ दिनों में ही छोड़ दिया पति का साथ, अब बुनेगी सपने

कुछ बच्चों को अच्छी सुविधा आदि मिलने के बाद भी पढना पसंद नही होता ये कभी क्लास बंक करते है तो कभी पढने नही जाते लेकिन कुछ बच्चे ऐसे होते है जिनमे पढने का बेहतरीन जज्बा होता है जो पढाई के लिए बड़े से बड़े फैसले ले लेते हैं.

एक ऐसा ही मामला बिहार के भागलपुर जिले के सुल्तानगंज प्रखंड एक गाँव से आया है यहाँ ४५ दिन पहले एक लड़की की शादी एक लड़के के साथ हुई थी लेकिन ये लड़की पढना चाहती थी लेकिन उसका पति पढने नही देता था

जानकारी के अनुसार, डेढ़ महीने पहले घोरघट निवासी सीताराम पंडित के पुत्र सुनील और जहांगीरा निवासी गुरुदेव पंडित की पुत्री नेहा कुमारी की हिंदू रीति रिवाज से शादी हुई थी. शादी के बाद नेहा गायब हो गई. उसके पति सुनील ने काफी खोजा लेकिन कहीं उसका पतना नहीं चला. इसके बाद लड़की के पिता ने सुल्तानगंज थाने में आवेदन देकर बेटी के अपहरण किए जाने की शिकायत कर दी. जब नेहा को इस बात की जानकारी मिली तो वह घर पहुंच गई.

घर पहुचने के बाद नेहा ने खुलासा किया की वो कही  नही गयी थी. वह पढ़ने के लिए पटना चली गई थी. नेहा ने अपने पिता को बताया कि ससुराल वाले उसे पढ़ने नहीं देना चाहते हैं. आगे पढ़ाई करने पर मना करते हैं

सरपंच ने बताया कि दोनों पक्षों की दलील को सुनने के बाद फैसला लिया गया है.दोनों पक्ष अब अलग-अलग अपनी रजामंदी से रहेंगे. दोनों के बीच कोई भी वैवाहिक संबंध नहीं रहेगा.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.