बिहार के बेटे को है दुर्लभ बीमारी, 16 करोड़ का लगेगा इंजेक्शन, दर दर भटक रहे माता-पिता, नहीं सुन रही सरकार

Advertisement

एक कहावत है कर्ज और मर्ज से जीता दूर रहे उतना ही अच्छा है दोनों अंदर अंदर से ही इन्सना को खा लेते है अब बिहार के बेटे को बेहद दर्लभ बीमारी है जिसको 16 करोड़ का इंजेक्शन लगेगा तभी बचाया जा सकता है जी हाँ आपने सही सुना.

Advertisement

राजधानी पटना के रुकनपुरा के रहने वाले एक दंपति ने स्पाइनल मस्कुलर स्ट्राफी बीमारी से पीड़ित अपने 10 माह के अयांश को बचाने के लिए लोगों से मदद की गुहार लगाई है. क्योंकी सरकार उनकी मदद नहीं कर रही है

दंपति के पास इतने पैसे नहीं हैं की वो अपने जिगर के टुकड़े को 16 करोड़ का इंजेक्शन लगवा सके, जिसकी वजह से उन्होंने आम लोगों से लेकर सरकार तक से गुहार लगाई है ताकि अयांश को बचाया जा सके

Advertisement

अयांश की माँ के अनुसार अयांशजब 2 साल का था तब हमे उसकी बीमारी के बारे में पता चला था, वही डॉक्टर बताते हैं इस बीमारी में बच्चा सिर्फ 2 साल तक ही जीवित रह सकता है माँ ने बताया की हम पैसा इक्कठा करने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रहे हैं.

मदद के लिए Manish Kasyap- Son Of Bihar ने की थी सबसे पहले शुरुवात 

मनीष जी के बारे में कौन नही जानता, वो बीमार के जाने मने पत्रकार है और सीधे जबाब करते हैं उन्होंने ही सबसे पहले अयांश के परिवार की मदद के लिए फेसबुक पेज पर आकर लाइव किया था और परिवार के लिए मदद की गुहार लगाई थी. मनीष जी प्रतिदिन लाइव आकर अयांश के इलाज के लिए फंडिंग कर रहे हैं

सीएम के जनता दरबार में जाने का नहीं मिला मौका

अयांश के पिता आलोक कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री के जनता दरबार में बच्चे के साथ जाकर मदद मांगने के लिए आवेदन दिया, लेकिन अब तक कोई जवाब नहीं आया है

ऐसे कर सकते हैं आप भी मदद :

अगर आप अयांश को बचाने में अपना सहयोग देना चाहते हैं तो उनके पिता ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया में अयांश सिंह के नाम से खाता खुलवाया है. उसकी जिंदगी बचाने के लिए इस खाते पर मदद कर जो भी राशि चाहें वह भेज सकते हैं. नाम- Aayansh singh, खाता संख्या- 5121176175, IFSC-CBIN0282384, बैंक का नाम- Central Bank of India

Advertisement
admin
Journalist from Gurugram. At @News Desk she report, write, view and review hyperlocal buzz of Delhi NCR. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Meenakshi