देश में लाखो लोग UPSC की परीक्षा पास करके देश के सर्वोच्च पद पर सम्मान जनक नौकरी करना चाहते है. देश की सेवा करने चाहते है. लेकिन इनमे से बहुत से लोग ऐसे होते है जो इस परीक्षा मैं बैठने से घबराते है. वो कहते ही की मैं इस परीक्षा को पास नहीं कर सकता क्योकि मेरी इंग्लिश कमजोर है, मेरा ये सब्जेक्ट कमजोर है मेरा वो सब्जेक्ट कमजोर है. मैं पढ़ाई में कमजोर हु. मेरी दसवीं में बहुत कम नंबर आये, मेरी बाहरवीं में नंबर कम आये.

आज हम आपको एक ऐसे ही सख्स से मिलवाने वाले है जिसके साथ भी ये सभी समस्याए थी. लेकिन ये सख्स ने इन सभी समस्याओ से घबराया नहीं. पूरी हिम्मत के साथ इनका सामना किया. और आगे चलकर UPSC की परीक्षा पास करके वो आईपीएस अधिकारी बन गया. जी हां, ये कहानी है देश के राजस्थान राज्य के बीकानेर से ताल्लुक रखने वाले आकाश कुल्हारी की.

आज आकाश कुल्हारी अपराध करने वालो के लिए एक पुरे सपने जैसे है. आज उनकी छवि उनके इलाके में सबसे इमानदार आईपीएस अधिकारी की है. आकाश कुल्हारी अपने एक इंटरव्यू में बताते है की मैं बचपन में पढ़ाई में कुछ ख़ास नहीं था. स्कूल के दिनों में मेरी खारब पढ़ाई की वजह से माता पिता काफी परेशान रहते थे. जब साल 1996 में मैंने दसवी की परीक्षा की तो उसमे भी मेरे बहुत कम आये और इस वजह से मुझे स्कूल से भी निकाल दिया था.

इसके बाद मैंने बीकानेर के केन्द्रीय विद्यालय में एडमिशन लिया. और फिर मेहनत करनी शुरू की जिसकी बदौलत तब बहारवी में मेरे अच्छे नंबर आये. इसके बाद मैं उच्च शिक्षा की ओर बढ़ा. मैंने 2001 में बी कोम किया फिर एम् कोम किया. इसके बाद UPSC की तैयारी शुरू की. इसके बाद मैंने साल 2006 में पहली बार में UPSC की परीक्षा पास कर ली थी. इतना ही नहीं इससे एक साल पहले 2005 में एम् फिल भी कम्पलीट किया.

हालाँकि स्नातक करने के बाद आकाश कुल्हारी को नौकरी मिल गई थी. लेकिन उनकी माता की इच्छा थी की उनका बेटा एक अधिकारी बने. तो इसका मान रखते हुए आकाश कुल्हारी ने नौकरी छोड़ UPSC की तैयारी शुरू कर दी थी.

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.