बचपन में बड़े अधिकारी बनने का था शौक, ips बनकर पहनी पहली वर्दी, 40 रैंक के साथ टॉप करके ias बनी गरिमा

शौक बहुत बड़ी चीज है अगर किसी शौक को पूरा करने का ठान लो तो उसको पूरा करके ही दम लेना चाहिए, ऐसा ही कुछ कर दिखाया गरिमा ने. गरिमा को बचपन से ही अधिकारी बनने का शौक था, गरिमा ने अपने शौक को पूरा करने के लिए जी तोड़ मेहनत की, गरिमा पहले IPSबनी और उसके बाद ias बनकर इतिहास रच दिया.

गरिमा अग्रवाल गरिमा खरगोन के समाजसेवी व नामी उद्योगपति कल्याण अग्रवाल व किरण अग्रवाल की छोटी बेटी है।  गरिमा बचपन से ही होनहार थीं। और पढने में भी काफी होशियार थी. स्कूल के समय से इन्हें रोटरी इंटरनेशनल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत अमेरिका में अध्ययन करने का मौका मिला था।

गरिमा बचपन से ही अधिकारी बनकर देश की सेवा करना चाहती थी और ये ही उनका सपना था.  वर्ष 2017 में गरिमा ने  यूपीएससी की परीक्षा दी तो 241वीं रैंक पर चयन हुआ, आईपीएस कैडर मिला था। इसके बाद हैदराबाद में आईपीएस की ट्रेनिंग शुरू कर दी, मगर दिल में उनके आईएएस अफसर बनने का ख्वाब था।

इसके बाद वो यहाँ ही नही रुकी उन्होंने अपनी पढाई जारी रखी जून 2018 प्री और सितंबर 2018 में मेंस दी। 27 मार्च 2019 को साक्षात्मकार हुआ और 5 अप्रेल 2019 को आईएएस बनने का सपना भी पूरा हो गया था। वो सफल रहीं और 40 रैंक के साथ IAS अफसर बन गईं।

गरिमा के इस मेहनत, हौसले और जज्बे को देख उनके परिवार वाले और दोस्त हैरान रह गए थे. उनके मुंह से बस एक ही शब्द निकला था वाह.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.