Posted inSports

देश ने नहीं दिया मौका तो इस घरेलु टूर्नामेंट में चमके मनीष पांडे, कप्तान बन जीत ली ट्रॉफी, फाइनल मैच में 17 गेंदों में ठोके 41 रन, देवदत्त पडिक्क्ल भी चमके

कहते है किसी खिलाडी को टीम इण्डिया में अपनी जगह बनाना काफी मुश्किल होता है. लेकिन उससे भी कही अधिक खुद को टीम में लम्बे समय तक बरक़रार रखना होता है. यदि कोई खिलाडी लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाता तो उसे तुरंत बहार का रास्ता दिखा दिया जाता है और उसकी जगह फॉर्म में […]

Join WhatsApp Group