क्रिकेट के खेल में अमूमन देखा जाता है की जब कोई बल्लेबाज क्रिकेट ग्राउंड पर चौको और छक्को की बरसात करते हुए अपना शतक जड़ता है तो उसकी टीम को उस मैच में जरुर सफलता मिलती है। लेकिन आपको ये जानकर काफी हैरान होगी की भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ऐसे भी बल्लेबाज हो चुके है जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शतक तो जड़ा लेकिन वो टीम के किसी काम ना सका। यानि उस मैच में हार का सामना ही करना पड़ा। और ऐसा होना शतक लगाने वाले खिलाड़ी और उसकी टीम के लिए दुर्भाग्य की बात होती है।

इसी के चलते आज हम आपको 4 ऐसे ही भारतीय खिलाडियों के बारे में आपको बताने वाले है, जिनका शतक भारतीय टीम के लिए किसी काम ना आ सका।

1.दिलीप वेंगसरकर:-

दिलीप वेंगसरकर का नाम भारत के सबसे बेहतरीन टेस्ट क्रिकेटर की लिस्ट में शुमार है। इन्होने भारत के लिए 116 टेस्ट मैच खेले जिनमे इन्होने 17 शतको और 23 अर्धशतको के साथ 6868 रन अपने नाम किये। वही, वनडे में इन्होने 129 मैच खेले जिनमे इन्होने कुल 3805 रन बनाये। इस दौरान वनडे में इन्होने एक शतक भी जड़ा था, लेकिन ये शतक उस वक्त उस मैच में भारतीय टीम को जीत नहीं दिला सका था।

2.रोबिन सिंह:-

.रोबिन सिंह का नाम भारत के सबसे बेहतरीन आलराउंडर की लिस्ट में शुमार है। इन्होने अपने क्रिकेट कैरियर अपने बल्ले और गेंद से खूब धमाल मचाया था। इसके अलावा एक फील्डर के रूप में भी इन्होने अपना कमाल दिखाया था। रिकॉर्ड के अनुसार, रोबिन सिंह टेस्ट फोर्मेट में तो ज्यादा नहीं खेल पाए लेकिन इन्होने वनडे फोर्मेट के 136 मैच जरुर खेले। जिनमे इन्होने 25.96 के औसत से 2336 रन ठोके थे। इस दौरान इनके बल्ले से एक शतक भी निकला जोकि उस वक्त टीम की जीत में किसी काम ना सका था। और भारतीय टीम उस मैच में हार गई थी।

3.संजय मंजेरकर:-

संजय मंजेरकर अपने खेल से ज्यादा अपनी शानदार कमेंट्री के लिए जाने जाते है। इनका ना तो टेस्ट क्रिकेट कुछ खास रहा और ना ही वनडे। आकड़ो पर नजर डाली जाए तो इन्होने अपने कैरियर में केवल 74 वनडे मैच खेले। जिनमे ये 33.23 के औसत से कुल 1994 रन ही बना सके। इसमें इन्होने 15 अर्धशतक और 1 आतिशी शतक जड़ा। लेकिन इनका भी ये शतक भारतीय टीम को जीत ना दिला सका था। वही, जब इनके क्रिकेट का बुरा दौर आया तो इसके बाद इनकी भी कभी वापसी नहीं हो पाई थी।

4.रमन लाम्बा:-

बता दे की रमन लाम्बा ये वही खिलाड़ी है जिनकी मौ’त क्रिकेट ग्राउंड पर ही गेंद लगने की वजह से हो गई थी। इनका मौ’त बांग्लादेश के ढाका में एक मैच में तब हुई थी जब वो शोर्ट लेग पर खड़े हुए फील्डिंग कर रहे थे। तब एक गेंद इनकी गर्दन पर लगी थी। जिसके बाद इन्हें होस्पिटल ले जाया गया लेकिन इनकी जान नहीं बचाई जा सकी थी।

वही, इनका क्रिकेट कैरियर भी काफी छोटा रहा गया था। लेकिन हां, इन्होने अपने खेल से अपना अच्छा खासा नाम बना लिया था। रमन लाम्बा ने अपने क्रिकेट कैरियर में केवल 32 वनडे मैच खेले थे, जिनमे इन्होने 27 के औसत से केवल 783 रन ही बनाये थे। जिसमे इन्होने 6 अर्धशतक और 1 शतक जड़ा था। और इनका ये शतक टीम को उस मैच में जीत नहीं दिला सका था। वही, इन्होने केवल 4 टेस्ट मैच खेले थे जिनमे इन्होने 1 अर्धशतक लगाया था।

Journalist from Moradabad. At @News Desk he report, write, view and review Crcicket News. Can be reached at hello@newsdesk-24.com with Subject line starting Kuldeep

Leave a comment

Your email address will not be published.