आईपीएल

आईपीएल 2008 से अब तक ये 5 कंपनियां रह चुकी है टाइटल स्पॉन्सर, जानिए बीसीसीआई को किसने कितने पैसे दिए

इंडियन प्रीमियर लीग की शुरुआत साल 2008 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के द्वारा शुरू किया गया। यह दुनिया की पहली टी-20 लीग है, इसी वजह से आईपीएल वर्तमान में दुनिया की सबसे बड़ी लीग बन चुकी है। जब भी आईपीएल की नीलामी होती है तो उस दौरान उन्हें बहुत मोटी रकम दिया जाता है, यही कारण है कि दुनिया के हर क्रिकेटर का सपना होता है कि वो इंडियन प्रीमियर लीग में खेलें। आज हम आपको उन पांच कंपनियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आईपीएल में टाइटल स्पॉन्सर रही है। इसके अलावा आपको यह भी मालूम चलेगा कि उन कंपनियों ने बीसीसीआई को कितना पैसा दिया है।

1. डीएलएफ

आईपीएल के पहले सीजन में टाइटल स्पॉन्सर के लिए डीएलएफ ने सबसे बड़ी 40 करोड़ की बोली लगाई थी। उस बोली को लगाकर डीएलएफ ने चार सालों के लिए टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल की थी। आपको बता दें कि डीएलएफ एक रियल-एस्टेट कंपनी है जिसकी शुरुआत साल 1946 में की गई थी।

2. पेप्सी

पेप्सी ग्लोब स्तर पर बहुत बड़ी कंपनी है। वहीं इंडियन प्रीमियर लीग में टाइटल स्पॉन्सरशिप प्राप्त करने वाली पेप्सी दूसरी कंपनी बनी थी। इस कंपनी ने पांच सालों के लिए 396 करोड़ रुपये देकर डील साइन की थी। उसके बाद साल 2015 में भ्रष्टाचार घोटाले की वजह से पेप्सी कंपनी ने दो साल पहले ही अपना नाम वापस ले लिया था।

3. विवो

चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी विवो ने साल 2016-17 के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को 100 करोड़ रुपये दिए थे। जब दो साल का कान्ट्रैक्ट पूरा हो गया, फिर अगले 5 साल के लिए विवो ने टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल करने के लिए 2,199 करोड़ की बड़ी बोली लगाई।

4. ड्रीम 11

बता दें कि आईपीएल 2020 के सीजन से वीवो ने अपना नाम वापस ले लिया था। क्योंकि उस समय भारत और चीन के बीच की स्थिति कुछ ठीक नहीं चल रही थी। लेकिन साल 2021 में उनकी फिर से वापसी हुई। वहीं साल 2020 में ड्रीम 11 ने 222 करोड़ रुपये देकर आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सरशिप प्राप्त किया था।

5. टाटा ग्रुप

इंडियन प्रीमियर लीग 2022 से पहले वीवो ने अपना करार खत्म कर लिया है जिस वजह से अब साल 2023 तक के लिए टाटा ग्रुप ने 440 करोड़ रुपये देकर इंडियन प्रीमियर लीग का टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल किया है। इसके बारे में पूरी जानकारी हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा दी गई है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.