आईपीएल 2022 से पहले टाइटल स्पॉन्सर वीवो ने कहा अलविदा, तो अब इस बड़ी कंपनी ने पकड़ा हाथ, जानें उसका नाम

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड और सभी फ्रेंचाइजी के द्वारा इंडियन प्रीमियर लीग 2022 की तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसी वजह से फरवरी में मेगा ऑक्शन होने वाला है, उस दौरान दुनिया के बड़े-बड़े खिलाड़ियों पर बड़ी बोली लगेगी। आईपीएल के पिछले कुछ सीजन से वीवो आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर था, लेकिन अब उन्होंने इस लीग का साथ छोड़ने का फैसला किया है। इसके बारे में बीसीसीआई के द्वारा जानकारी दी गई है।

बता दें कि 11 जनवरी को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड द्वारा एक मीटिंग रखी गई थी और उस दौरान इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के लिए होने वाले मेगा ऑक्शन को सही तरीके से आयोजन करवाने को लेकर चर्चा किया गया। उसी मीटिंग के दौरान बीसीसीआई ने टाइटल स्पॉन्सर रहने वाली वीवो कंपनी के बारे में बताया कि उन्होंने अब आईपीएल का साथ छोड़ने का फैसला किया है।

आईपीएल 2022 के ऑक्शन के बारे में इस लीग के चेयरमैन बृजेश पटेल ने कहा कि मेगा ऑक्शन का आयोजना किस तरह करना है। उसको लेकर तकरीबन सभी को अंतिम रूप दे दिया गया है। इस वजह से अब हमारा पूरा ध्यान इंडियन प्रीमियर लीग 2022 का मेगा ऑक्शन सफलतापूर्वक आयोजना करवाना है।

विवो को लेकर बीसीसीआई ने किया खुलासा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की तरफ से एक ऑफिसियल बयान में कहा गया कि विवो ने आईपीएल से टाइटल स्पॉन्सर को छोड़ने के लिए निदेवन किया था, जिसे गवर्निंग काउंसिल द्वारा स्वीकार कर लिया गया है। वहीं अब हमें नए स्पॉन्सर से भी उतनी फीस मिल रही है जितना विवो की तरफ से हमें मिल रहा था और इस आईपीएल के लिए भी मिलने वाला था।

अब यह कंपनी होगा आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर

आईपीएल 2022 से पहले विवो द्वारा टाइटल स्पॉन्सर को छोड़ने के बाद टाटा को नया स्पॉन्सर बनाए बनाया जाएगा। इसके बारे में बीसीसीआई की तरफ से फैसला लिया जा चुका है। टाटा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को उतना ही पैसा देगी जितना इस साल आईपीएल के लिए विवो की तरफ से मिलने वाली थी। बता दें कि इन दिनों भारत में कोरोना की तीसरी लहर चल रही है जिस वजह से बीसीसीआई की चिंता बढ़ गई है। कोरोना को ध्यान में रखते हुए हाल ही में एक खबर आई थी कि कड़े बायो-बबल माहौल में इस साल आईपीएल का पूरा सीजन महराष्ट्र में करवाया जाएगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.