वनडे क्रिकेट
ऐसी और जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमसे जुड़े
WhatsApp Group Join Now

क्रिकेट का सबसे छोटा फॉर्मेट टी-20 में सबसे अधिक छक्के लगते हुए देखा जाता है, क्योंकि क्रिकेट के इस प्रारूप में बल्लेबाजों के पास कम समय होता है जिस वजह से गेंदबाजों की खूब पिटाई होती है। यही कारण है कि आज के समय में वनडे और टेस्ट क्रिकेट में भी बड़े-बड़े छक्के लगते हुए देखा जाता है। क्रिकेट इतिहास में ऐसा कई बार हुआ है जब खिलाड़ियों ने बड़ी पारियां खेली है, लेकिन उस दौरान उनके बल्ले से कोई छक्का देखने को नहीं मिला है। आज हम आपको दुनिया के उन 5 बल्लेबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने वनडे क्रिकेट में बिना छक्के की मदद से सबसे बड़ी पारी खेली है।

1. तिलकरत्ने दिलशान

साल 2015 के वर्ल्ड कप में तिलकरत्ने दिलशान ने बांग्लादेश के खिलाफ एक मैच में 146 गेंदों का सामना करते हुए 161 रनों की नाबाद पारी खेली थी। उस दौरान दिलशान के बल्ले से 22 चौके देखने को मिले थे, लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि उन्होंने उस बेहतरीन पारी के दौरान एक भी छक्का नहीं लगाया था।

2. हाशिम अमला

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज हाशिम अमला साल 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ एक वनडे मैच में 142 गेंदों का सामना करते हुए 153 रनों की नॉट आउट पारी खेली थी। उस दौरान अमला ने 14 चौके लगाए थे, लेकिन उनके बल्ले से एक भी छक्का देखने को नहीं मिला था।

3. ब्रायन लारा

5 नवंबर 1993 को वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच एक वनडे मैच खेला गया था, जिसमे ब्रायन लारा 143 गेंदों पर 21 चौके की मदद से 153 रन बनाए थे। उस दौरान लारा के बल्ले से एक भी छक्का देखने को नहीं मिला था।

4. सचिन तेंदुलकर

साल 2003 के वर्ल्ड कप में सचिन तेंदुलकर नामीबिया के खिलाफ 151 गेंदों का सामना करते हुए 152 रनों की पारी खेली थी। उस दौरान तेंदुलकर के बल्ले से 18 चौके निकले थे, लेकिन एक भी छक्का देखने को नहीं मिला था।

5. एंड्रयू स्ट्रॉस

इंग्लैंड के पूर्व बल्लेबाज एंड्रयू स्ट्रॉस ने साल 2005 में बंगलदेश के खिलाफ एक वनडे मैच में 128 गेंदों का सामना करते हुए 152 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी। लेकिन उस पारी के दौरान एंड्रयू स्ट्रॉस के बल्ले से एक भी छक्का देखने को नहीं मिला था, जबकि उन्होंने 19 चौके अवश्य लगाए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *