कप्तानी को लेकर विराट और दादा गांगुली के विवाद में रवि शास्त्री की एंट्री : बोले दादा को अब गांगुली के जवाब देने की है बारी

दिसम्बर में BCCI ने विराट कोहली से कप्तानी छीनकर रोहित शर्मा को दे दी थी उसके बाद से अब तक भारतीय क्रिकेट खेमे में भुच्ला बचा हुआ है. विराट कोहली दादा गांगुली पर आरोप लगा रहे हैं तो दादा गांगुली विराट कोहली पर आरोप लगा रहे हैं. अभी कुछ दिन पहले BCCI चीफ सेलेक्टर ने भी विराट कोहली पर आरोप लगाये थे.

जब  विराट कोहली ने T-20 की कप्तानी छोड़ी थी तब BCCI ने विराट से कहा था की आप टी-20 की कप्तानी ना छोड़े लेकिन विराट कोहली ने एक ना सुनी और कप्तानी छोड़ दी. ऐसे में BCCI ने विराट कोहली से टेस्ट की कप्तानी छीनकर रोहित को दे दी.

अब इन दोनों के बीच भारतीय टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री की एंट्री हो गयी है, रवि शस्त्री का मानना है कि विराट कोहली अपना पक्ष रख चुके हैं. ऐसे में अब सौरव गांगुली को भी अपना मत रखना चाहिए. उन्होंने दोनों के बीच हुए झगड़े को कम करने के लिए कई सुझाब भी रखे

इंडियन एक्सप्रेस’ से एक वीडियो इंटरव्यू में कहा, ‘इस मामले को बेहतर कम्युनिकेशन के साथ हैंडल किया जा सकता था. पब्लिक डोमेन में बात सामने आने की बजाए अगर संवाद होता तो यह बेहतर रहता. विराट कोहली अपने पक्ष की कहानी को बता चुके हैं. अब बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को चाहिए कि वो इस मामले पर स्पष्टीकरण दें और अपना पक्ष बताएं.‌

सवाल यह नहीं है कि कौन झूठ बोल रहा है, प्रश्न यह है कि सच क्या है. हम सच जानना चाहते हैं और मुझे लगता है कि यह बातचीत से ही सामने आ सकता है. दोनों तरफ से संवाद होना जरूरी है. एक पक्ष ने अपनी तरफ से बात कह दी है.’

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.