विराट कोहली

जब इस खिलाड़ी के करियर पर फुल स्टॉप लगाना चाहते थे विराट कोहली, लेकिन रवि शास्त्री ने दिया एक मौका, फिर उसने ठोक दिए 190 रन

टी-20 वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्त्री ने कोच पद से इस्तीफ़ा दे दिया था। उसके बाद उन्होंने कई बड़े खुलासे किए। शास्त्री के कार्यकाल में जो घटनाएं घटी उनमे से कई बड़ी घटनाओं के बारे में रवि शास्त्री को खुलासा करते हुए देखा गया। अब उन्होंने एक ऐसा खुलासा किया है जिसके बारे में शायद बहुत कम लोग जानते होंगे, क्योंकि इस घटना को लेकर इससे पहले कभी किसी ने जिक्र ही नहीं किया।

रवि शास्त्री ने हाल ही में स्टार स्पोर्ट्स के एक शो द बोल्ड एंड ब्रेव में मौजूद थे। उस दौरान उन्होंने टीम इंडिया के एक ऐसे क्रिकेटर के बारे में जिक्र किया जिन्हें विराट कोहली टीम के साथ श्रीलंका दौरे पर लेकर नहीं जाना चाहते थे। लेकिन रवि शास्त्री उस प्लेयर को एक मौका देना चाहते थे और किसी तरह उसे श्रीलंका दौरे पर ले गए। फिर वहां उस खिलाड़ी ने वो किया, जिसके बारे में खुद रवि शास्त्री और विराट कोहली भी पहले कभी यकीन नहीं किया होगा।

इस खिलाड़ी को मौका नहीं देना चाहते थे विराट

आपको बता दें कि साल 2017 में भारत को श्रीलंका दौरे पर जाना था, क्योंकि उस दौरान इन दोनों टीमों के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेला जाना था। उस समय भारतीय ओपनर मुरली विजय फिट नहीं थे, इस वजह से भारत के सामने एक दिक्कत यह थी कि अब ओपनिंग कौन करेगा। फिर कोच रवि शास्त्री ने विराट को एक बल्लेबाज के बारे में बताया, जिसका नाम शिखर धवन है। क्योंकि धवन साल 2017 के चैम्पियंस ट्रॉफी में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे।

रवि शास्त्री चाहते थे श्रीलंका दौरे पर धवन को टीम में मौका मिलना चाहिए, वहीं विराट कोहली इसके खिलाफ थे। क्योंकि वो किसी दूसरे खिलाड़ी को मौका देना चाहते थे। लेकिन शास्त्री ने कोहली किसी को किसी तरह समझाया। फिर श्रीलंका दौरे पर धवन को ले जाने के लिए विराट भी मान गए।

शास्त्री ने स्टार स्पोर्ट्स के शो द बोल्ड एंड ब्रेव के दौरान कहा कि मुझे अच्छी तरह याद है कि लोग सेलेक्शन की बात कर रहे थे और वो सबसे बढ़िया सेलेक्शन था। क्योंकि शिखर धवन खेलने वाले नहीं थे। लेकिन चैम्पियंस ट्रॉफी में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था। मैं कोहली के पास गया और कहा ये लड़का ओपनर हो सकता है, लेकिन उसने मना कर दिया और कहा कि हमने किसी दूसरे खिलाड़ी को मौका देने का सोचा है।

उसके बाद कोहली ने विराट से कहा कि नहीं, हमें इसे एक मौका अवश्य देना चाहिए। क्योंकि वो बहुत आक्रामक है और अच्छा भी लग रहा है। यदि वो ऐसा खेला तो हमें सिर्फ एक सेशन में ही मैच जीता सकता है। उसके बाद जब शिखर धवन को पहला मैच खेलने का मौका मिला तो उसने चाय से पहले ही सिर्फ 168 गेंदों में 190 रन ठोक दिए। फिर सारी बातें वहीं पर खत्म हो गई।

शिखर धवन ने उस सीरीज के अंतिम मैच में भी बेहतरीन शतक लगाया था। जिस वजह से वह सीरीज टीम इंडिया 3-0 से जीत दर्ज किया था। उस सीरीज में धवन सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली पहले कभी सोचा नहीं था कि शिखर धवन टेस्ट क्रिकेट में चाय से पहले से शतक जड़ देगा। उसके बाद धवन ज्यादा टेस्ट मैच नहीं खेले और साल 2018 में इंग्लैंड दौरे के बाद उन्हें टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.