|

टिका लगाने आई हेल्थ टीम तो बुजुर्ग महिला ने लट्ठ लेकर दौड़ाया, बोली- चिल्लाई- तू थानेदार है क्या, चली जा, नहीं तो सिर फोड़ूंगी, अब

दौसा के नांदरी गांव के नयाबास में वैक्सीनेशन के लिए पहुंची हेल्थ वर्कर भावना राजपूत व आंगनबाडी वर्कर सफेदी को एक बुजुर्ग महिला का विरोध झेलना पड़ा। हेल्थ वर्कर ने खेत में काम कर रही बुजर्ग महिला से वैक्सीन लगवाने को कहा। महिला ने मना कर दिया। हेल्थ वर्कर ने समझाया, विनती की, अम्मा बीमारी फैल रही है, टीका लगवा लो, बुजुर्ग महिला भड़क गई, बोली- तू कोई थानेदार है क्या, चली जा यहां से नहीं तो सिर फोड़ दूंगी।

ये मामला दौसा के नांदरी गांव के नयाबास का है। यहां हेल्थ वर्कर भावना राजपूत और आंगनबाडी वर्कर सफेदी वैक्सीनेशन के लिए पहुंची थीं। गांव की एक बुजुर्ग महिला को वैक्सीन लगवाने के लिए कहा तो उन्होंने लट्ठ उठा लिया और विरोध करना शुरू कर दिया। हेल्थ वर्कर ने समझाया, लेकिन बुजुर्ग महिला भड़क गई और बोली- तू कोई थानेदार है क्या, चली जा… नहीं तो सिर फोड़ दूंगी। बुजुर्ग महिला डंडा लेकर टीम के पीछे दौड़ी तो सीएचए और आशा वर्कर को मौके से दौड़ना पड़ा। महिला ने टीम को खूब दौड़ाया। ये महिला खेत में काम कर रही थी।

बुजुर्ग महिला ने पहले हेल्थ टीम को दूर से ही गाली-गलौज की। साथ ही कहा कि वह वैक्सीन नहीं लगाएगी, चाहे मर जाने दो। लेकिन, जब चिकित्सा विभाग की टीम ने बार-बार निवेदन किया तो बुजुर्ग महिला डंडा लेकर टीम के पीछे भागी। जिसके बाद चिकित्सा विभाग की टीम को भी उल्टे पांव भागना पड़ा।

नांदरी पीएचसी प्रभारी डॉ. भूरसिंह का कहना है कि मुझे वैक्सीनेशन का विरोध करने की जानकारी मिली है। बुधवार को मैं स्वयं मौके पर जाऊंगा और बुजुर्ग महिला की काउंसिलिंग की जाएगी। सिकरास ब्लॉक सीएमएचओ डॉ. अमित मीणा ने बताया कि टीम ने बुजुर्ग महिला को टीकाकरण से होने वाले फायदे बताने की कोशिश की, लेकिन वो कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थी। बुजुर्ग महिला ने डंडा लिया और टीम को दौड़ा दिया। ऐसे में टीम को वापस लौटना पड़ा। ग्रामीण इलाकों में अफवाहों की वजह से लोग वैक्सीन लगवाने से डरते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.